Sunday, November 22, 2020

मिशन शक्ति की सफलता पर प्रधान पतियों का ग्रहण


---कागजी के बजाय असली ग्राम प्रधान जनता के बीच जाएं।

---ग्राम सभा की खुली बैठक हो।

प्रयागराज, 22 नवम्बर 2020। प्रधान पतियों को मिशन शक्ति के लिए कलंक बताते हुए वरिष्ठ समाजसेवी आर के पाण्डेय एडवोकेट ने चुने गए प्रधान को ही जनता के बीच जाने व ग्राम सभा की नियमित खुली बैठक की अनिवार्यता को आवश्यक बताया है।

आज मीडिया से वार्ता में पीडब्ल्यूएस प्रमुख आर के पाण्डेय एडवोकेट ने पूछा कि जब सीता, गार्गी, अहिल्या, रानी लक्ष्मीबाई, इंदिरागांधी, कल्पना चावला आदि महिलाएं बिना महिला आरक्षण, बिना मिशन शक्ति व बिना नारी सशक्तीकरण के स्वयं का नाम धार्मिक ग्रन्थों व इतिहास में अमर कर सकती हैं। तो 73 वर्षों के आजादी के बाद आज मिशन शक्ति की जरूरत ही क्या है ? उन्होंने कहा कि वास्तव में आज की राजनीति ही महिलाओं के लिए समस्या है न कि समाज। 

जब एक महिला के नाम पर ग्राम प्रधान व सदस्य का चुनाव जीता जा सकता है। तो उस असली महिला ग्राम प्रधान के बजाय प्रधान पति अपनी असली महिला ग्राम प्रधान को पर्दे में रखकर कार्य क्यों करता है। उन्होंने प्रधान पतियों को ही व्यवस्था का कलंक बताते हुए, ऐसे प्रधान पतियों पर कठोरतम दण्डात्मक कार्यवाही को आवश्यक बताया जोकि अपनी पत्नी के नाम पर चुनाव जीतकर राजनैतिक व आर्थिक लाभ उठाते हैं। आर के पाण्डेय ने जनता का आह्वान किया कि वे अपने क्षेत्र के कागजी के बजाय असली ग्राम प्रधान व सदस्यों को सामने लाने की मुहिम चलाएं तथा ग्राम सभाओं की नियमित खुली बैठक कराकर उनका आन लाइन वीडियो चलाएं। जिससे न सिर्फ जागरूकता आएगी वरन लोकतंत्र का असली मकसद भी जनता को पता चलेगा।

दो वर्षों से अनवरत भूखों को निःशुल्क भोजन बांट रहा भईया जी का दाल भात परिवार


संगम, प्रयागराज। तीर्थराज प्रयागराज में भईया जी का दाल भात परिवार एकमात्र ऐसा संगठन बन गया है जोकि दो सालों से प्रतिदिन हजारों भूखों को ताजा व पौष्टिक एवं भरपेट निःशुल्क भोजन वितरित कर रहा है। जानकारी के अनुसार बंधवा वाले हनुमान जी के मंदिर के बगल नाविक संघ कार्यालय पर यह अन्न क्षेत्र प्रतिदिन चलाया जा रहा है जहां भूख मुक्त भारत का संकल्प, भईया जी का दाल भात परिवार के सहयोगी स्वयं भूखी मानवता की सेवा करते हैं।

बता दें कि आज का भोजन प्रसाद वितरण परिवार के विशेष सहयोगी आरके पाण्डेय जी (इंजीनियर) के पूज्य पिताजी आदरणीय श्री ओम प्रकाश पाण्डेय जी ग्राम मनसैता सहसो प्रयागराज के शुभ जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में आरके पाण्डेय जी के सहयोग से सम्पन्न हुआ।

तीर्थपति प्रयागराज महराज जी के दरबार में, पवित्र त्रिवेणी संगम के तट पर, अक्षयवत की शीतल छाव में, ऋषभ देव भगवान की तपोस्थली पर, लेटे हुए हनुमान मन्दिर के सामने, नियमित रूप से गरीब, असहाय, कमजोर, दिव्यांग, बुजुर्ग, तीर्थयात्री,एवं जरूरतमंद लोगों को समाज के सहयोग से मुफ्त में भोजन प्रसाद वितरण कर सेवा किया जा रहा है। भईया जी का दाल भात परिवार प्रयागराज महराज से बाबूजी को जन्मदिन की ढेर सारी बधाई के साथ साथ पूरे परिवार की सुख, शान्ती,यश, कीर्ति, वैभव, आरोग्यता एवं दीर्घायु जीवन की कामना करता है। आईए आप भी एक मुठ्ठी अन्न से लेकर अपने श्रद्धा के अनुसार सहयोग कर भूख से पीड़ित मुरझाए चेहरे पर खुशी लाने के इस सार्थक प्रयास में हमारा सहयोग करें।

इस अन्न क्षेत्र के संयोजक गुड्डू मिश्र का कहना है-

"मर जाऊं मांगू नहीं अपने तन का काज।

परमारथ के काज में मोहि न आवत लाज।।"

  जनसहयोग हेतु इस अन्न क्षेत्र द्वारा सम्पर्क करने हेतु- 9838848771, 9335108390 दो हेल्प लाइन नम्बर भी जारी किए गए हैं।

आशाओं को शोषणमुक्त कराना व दस हजार मानदेय दिलाना संगठन का संकल्प

प्रदेश अध्यक्ष ने आशाबहुओं को पढाया अनुशासन व संघर्ष का पाठ



हर्रैया स्थिति थान्हाखास शिव मंदिर पर रविवार को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत आशाबहुओं की मासिक बैठक सम्पन्न हुआ। बैठक में आशाबहुओं को अनुशासन व संघर्ष की नसीहत देते हुए। आशा अधिकारमंच के प्रदेश अध्यक्ष चन्द्रमणि पाण्डेय सुदामाजी से अपनी समस्या बताते हुए। कुछ आशाबहुओं द्वारा बताया गया कि अब भी उनसे प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के फार्म को सम्मिट करने हेतु सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर 200रु.प्रति फार्म अनाधिकृत रूप से वसूली होता है। पैसा न देने की दशा में या तो फार्म जमा नहीं होता अथवा उसे सम्मिट नहीं किया जाता।

जिससे लाभार्थी को योजना का लाभ नहीं मिल पाता श्री पाण्डेय ने जल्द ही इस समस्या को उच्चाधिकारियों के संज्ञान में लाने का आश्वासन देते हुए कहा कि आप फार्म जमा कर उसकी रिसीविंग लिया करें। पैसा मांगने पर वीडियो बना लिया करें। उन्होंने कहा कि रामायण महाभारत से सीख मिलता है कि बिना कर्म (संघर्ष) फल नहीं मिलता पाण्डवों को बिना संघर्ष उनका अधिकार नहीं मिला।

भगवान राम को खुद बिना धनुष उठाये समुद्र ने मार्ग नहीं सुझाया। ऐसे में यदि हमें सी.एच.सी./पी.एच.सी.के शोषण से मुक्ति पाना है व न्युनतम परिश्रमिक के तौर पर दस हजार मानदेय पाना है । तो उसके लिए एकजुट संघर्ष करना होगा व संगठन को मजबूत बनाना होगा। जिस तरह घर में लगे मकडी के जाले को दूर करने हेतु हमें झाडू उठाना पडता है। हमें अपने लक्ष्य प्राप्ति हेतु लक्ष्य के प्रति संकल्पित होना पडेगा। आशा बहुओं व संगठन पदाधिकारियों के बैठक में बिना सूचना अनुपस्थिति पर नाराजगी जताते हुए।

उन्होने कहा कि संगठन में दायित्वों के प्रति अनुशासनहीनता मंजूर नहीं है। हमें लक्ष्य के प्रति उत्साहित पाण्डवों की जरुरत है। उन्होंने भविष्य में बिना सूचना अनुपस्थिति पर अर्थदण्ड का चेतावनी भी दिया। प्रभारी जिलाध्यक्ष शैलेन्द्री श्रीवास्तव ने कहा कि आपको संगठन का परिचय पत्र व नियुक्ति पत्र शीघ्र मिले। उसके लिए आप अपना फोटो आशा आई.डी. व पत्रव्यवहार के पते के साथ शीघ्र जमा करें। इस मौके पर संरक्षक दिनेश सिंह मगन, उपाध्यक्ष पूनम सिंह, सीमा त्रिपाठी, आरती त्रिपाठी, रूख्मिणी उपाध्याय, सुनीता देवी, श्यामादेवी, साधना देवी, रेखा देवी, मीना देवी, राधिका देवी, शारदा देवी, किरन बर्मा, पद्मावती सिंह, कांती यादव, स्नेहलता सहित सैकडों आशा बहुएं मौजूद रहीं।

क्राइम रोकने की भाजपा विधायक जनक सिंह की अनूठी पहल

 साक्षात्कार





तरैया विधानसभा क्षेत्र के बाजारों में अब अनावश्यक लोग भीड़ नही लगा सकेंगे। क्राइम रोकने की भाजपा विधायक जनक सिंह की अनूठी पहल। तरैया विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सभी छोटे बड़े बाजारों में प्रयोग के तहत अब खरीदारी करने जाने वाले लोग खरीददारी करने के बाद वहां अनावश्यक भीड़ नहीं लगा सकेंगे। इसके लिए स्थानीय व्यवसायियों और प्रशासन के सहयोग से एक अनूठी पहल शुरू की जा रही है। जहां अब खरीददारी करने के बाद आपको अपने घर वापस जाना पड़ेगा।

तरैया से नवनिर्वाचित भाजपा विधायक जनक सिंह ने कहा कि तरैया के विकास से समझौता नहीं किया जाएगा।  बिजली पानी स्वास्थ्य व कानून व्यवस्था की स्थिति को सुदृढ़ किया जाएगा। क्षेत्र के विकास के लिए सभी लोगों के सुझाव का स्वागत है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि किसी पार्टी किसी जाति किस वर्ग का नहीं होता, जनप्रतिनिधि पूरे क्षेत्र का होता है। सभी गांव के सर्वांगीण विकास को प्राथमिकता दी जाएगी।

 अधूरी परी विकास योजनाओं को ससमय पूरा किया जाएगा सरकारी योजनाओं को वास्तविकता के धरातल पर उतारा जाएगा। बांधों के पक्कीकरण के लिए युद्धस्तर पर काम होगा बाढ़ के कारण क्षेत्र के टूटी हुई सड़कों का निर्माण पहली प्राथमिकता होगी। उन्होंने कहा कि चुनाव में जनता ने अपना फैसला दिया है उस फैसले का हर किसी को सम्मान करना चाहिए। उनके मन में किसी के प्रति कोई मैल नहीं सभी लोग तरैया के विकास के लिए ही चुनावी मैदान में थे। सबको मिलकर तरैया के विकास की लड़ाई को मजबूत करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए की एक सशक्त सरकार बनी है। जो करप्शन क्राइम से कभी समझौता नहीं करेगी।

तरैया के विकास के सवाल पर उन्होंने कहा कि वे 1995 से लगातार तरैया के लोगों की सेवा में लगे हुए हैं। चुनाव में हार भी हुई है जीत भी हुई है पर वह समान भाव से लोगों की सेवा के लिए तत्पर रहें। भारतीय जनता पार्टी केंद्र से लेकर राज्य तक में सबका साथ सबका विकास के नारे को बुलंद कर रही है। विकास में कहीं भी समझौता नहीं किया जाएगा। राज्य मंत्रिमंडल में शामिल होने के कयासों के बारे में उन्होंने कहा कि वे दल के एक समर्पित कार्यकर्ता है। भारतीय जनता पार्टी में किसी भी कार्यकर्ता का कद पद से नहीं बढ़ता उसके समर्पण से बढ़ता है । उसके सेवाभाव से बढ़ता है वह सदैव पार्टी के एक कर्मठ सिपाही की भांति सेवा करना चाहते हैं। पार्टी जो भी जिम्मेदारी देगी, उसे सहर्ष सहर्ष स्वीकार किया जाएगा तथा उस जिम्मेवारी का निर्वहन पूरी ईमानदारी के साथ किया जाएगा।

राजेश सिंह की सीरियल 'स्टोरी 9 मंथ्स की' 23 नवंबर से सोनी टी. वी. पर होगी प्रसारित

 

राजेश सिंह की एक नयी सीरियल आ रही जिसका नाम हैं 'स्टोरी 9 मंथ्स की'। यह सीरियल सोनी टी वी पर सोमवार से शुक्रवार रात 10:30  बजे प्रसारित किया जायेगा। इसमें कलाकार के रूप में अक्षय मिश्रा, राजेश सिंह, सुकृति कंदपाल, कनुप्रिया पंडित, दधे पांडेय इत्यादि नज़र आएंगे। शो की कहानी बिल्कुल भिन्न पृष्ठभूमि से आये पात्रों के इर्द -गिर्द घूमता है जिसके कारण कहानी काफी मनोरंजक और रुचिकर बन जाती हैं। इसमें सारंगधर पांडेय का पात्र अक्षय मिश्रा निभा रहे हैं वहीँ आलिया श्रॉफ का पात्र सुकृति कंदपाल कर रही हैं। 

आलिया श्रॉफ एक महत्वाकांक्षी व्यवसायी है और एक स्वतंत्र लड़की हैं जो अपने बच्चे को अकेले पालना चाहती हैं। चुकी आलिया श्रॉफ बिना शादी के माँ बनने में विश्वास रखती हैं इसलिए वो आई. वी. एफ. के माध्यम से माँ बनने का निर्णय करती हैं और एक अच्छे डोनर के तलाश में हैं। वहीँ दूसरी ओर सारंगधर पांडेय एक नवोदित लेखक है जो अपना सपना पूरा करने के लिए अपना होमटाउन मथुरा छोड़ कर मुंबई आ जाता हैं।


संजना सिनेग्लोबल से बात करते हुए राजेश सिंह ने कहा की वो इस सीरियल में राकेश नाम का कैरैक्टर प्ले कर रहे हैं जो बचपन से ही सारंगधर पांडेय का बिलकुल नजदीकी और विश्वासी मित्र हैं और सारंगधर के हर सुख -दुःख में साथ देता हैं। 


राजेश सिंह ने सीरियल 'स्टोरी 9 मंथ्स की' के पहले कुमकुम भाग्य, ये हैं मोहब्बतें, विघ्नहर्ता गणेश, मरियम खान रिपोर्टिंग लाइव और विद्या इत्यादि समेत कई शोज़ में काम कर चुके हैं। इन्होने सीरियल के अलावा ठग्स ऑफ़ हिन्दोस्तान, द रोड साइड सिंगर रकीब समेत कई फिल्मों में काम किया है। राजेश सिंह की और भी कई शोज़ हैं जो पाइपलाइन में हैं।    

दीदीजी फाउंडेशन ने छठ व्रतियों के बीच बांटी पूजन सामग्री



पटना, 19 नवंबर सामजिक संस्था दीदी जी फाउंडेशन,पटना (बिहार) ने लोकआस्था के महापर्व छठ को लेकर छठ व्रतियों के बीच पूजन सामग्री का वितरण किया।

   दीदीजी फाउंडेशन की संस्थापिका एवं राष्ट्रीय युवा पुरस्कार एवं शिक्षक सम्मान से सम्मानित डॉ.नम्रता आनन्द ने छठ के दूसरे दिन खरना के अवसर पर कुरथौल पंचायत के हजामटोली, कनवाटोली, दुसातटोली और चमटोली  तथा चितकोहड़ा पुल के नीचे जगजीवन नगर में छठ व्रतियों के बीच पूजन सामग्री का वितरण किया। इस कार्यक्रम में 51 सूपों में भरकर फल, साड़ी और पूजा की सामग्री व्रतियों को दी गयी। इस अवसर पर डा.नम्रता आनंद ने सभी लोगों को छठ की शुभकामना देते हुये कहा कि छठ लोक आस्था का पर्व है। छठ केवल पर्व ही नहीं महापर्व भी है। यह चार दिनों तक चलता है। छठ पर्व अनेकता में एकता संग स्वच्छता का परिचायक है।

प्रकृति से जुड़े इस पर्व में ऊंच-नीच का भेद मिट जाता है। छठ अब बिहार की बात नहीं रही। इसे उत्तर प्रदेश, झारखंड और बंगाल समेत कई राज्यों में बड़े ही आस्था के साथ मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि छठ पर्व सूर्योपासना का पर्व है। इस दिन सूर्यदेव की अराधना करने से व्रती को सुख, सौभाग्य और समृद्धि की प्राप्ति होती है और उसकी सभी मनोकामनाएंपूरी होती हैं। सभी लोग महापर्व को मिल-जुलकर आपसी प्रेम, पारस्परिक सद्भाव और शांति के साथ मनायें। जो लोग भक्त‌ि भाव से छठी मैया की पूजा करता है उनकी सभी मनोकामना मैय्या पूरी करती हैं। इस दौरान छठ व्रतियों ने  छठी मैय्या के गीत ' कांच ही बांस की बहंगिया, बहंगी लचकत जाए'. केलवा जे फरेला घवद से, उगी है सुरुजदेव., हे छठी मइया तोहर महिमा अपार जैसे गीतों के जरिये माहौल को भक्तिमय बना दिया।

कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रियंका कुमारी, विभा कुमारी, नेहा प्रवीण, निरंतरा हर्षा, नियाती सौम्या, जैनब अंजुम, रंजीत ठाकुर, राजू कुमार, सूरज कुमार, पिंटू कुमार, राजा कुमार, विमल प्रकाश, अजय पंडित और नीरज कुमार ने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी

भ्रष्टाचार का दूसरा नाम बना बाल विकास परियोजना

ब्लॉक के अधिकारी जिले पर भारी


----नियम विरुद्ध आंगनबाड़ी की नियुक्ति।

---पौष्टिक आहार वितरण में भारी घोटाला।

---सुदूर जिलों में रहकर कागज पर काम।



विक्रमजोत, बस्ती, 19 नवम्बर 2020। क्या एक आंगनबाड़ी कार्यकत्री, सुपरवाइजर व सीडीपीओ इतने सशक्त हो सकते हैं कि उनके आगे जिले व प्रदेश के अधिकारी नतमस्तक हो सकते हैं ? फिलहाल बस्ती जनपद के विक्रमजोत ब्लॉक में तो इसका उत्तर सीधे हाँ में ही है।

बता दें कि विक्रमजोत ब्लॉक के रामनगर आंगनबाड़ी केंद्र पर तैनात एक आंगनबाड़ी कार्यकत्री सुमनलता पाण्डेय जोकि गोंडा जनपद के छपिया क्षेत्र में दूसरी शादी करके भा0 द0 स0 की धारा 494 का मुकदमा फैजाबाद में लड़ रही है व अपने पहले पति से आई0पी0सी की धारा 498ए, 323, 504, 506 व डी0 पी0 की धारा 3/4 का भी मुकदमा लड़ रही है तथा नियुक्ति वाले केंद्र के क्षेत्र के ग्राम प्रधान खुद इसके माता-पिता रहे हैं तथा नियुक्ति के समय इस आंगनबाड़ी कार्यकत्री द्वारा इन सारे तथ्यों को छिपाकर नियुक्ति ली गई। रहस्यमयी परिस्थित तो यह बन गई कि दो शादियों के मध्य उतपन्न इसके दो बच्चों के वास्तविक पिता की जानकारी के लिए विभाग से इनके डीएनए टेस्ट की मांग की गई है। उधर शिकायतकर्ता का यह भी आरोप है कि गोंडा जनपद की यह महिला बस्ती जनपद में आंगनबाड़ी कार्यकत्री बनकर तीसरे जनपद अयोध्या में रहती है व ड्यूटी केवल कागज पर जारी है। यह सब धूमधड़ाके से इसलिये चल रहा है क्योंकि इसे अपने दूर के रिश्तेदार व अयोध्या में ही निवास कर रही सीडीपीओ लक्ष्मी पाण्डेय व सुपरवाइजर कुमुद सिंह का संरक्षण प्राप्त है।

जानकारी के अनुसार सीडीपीओ लक्ष्मी पाण्डेय की नियुक्ति मात्र संविदा पर भदोही जनपद में हुई थी परंतु उपलब्ध जीओ के विरुद्ध किस आधार पर इनका स्थानांतरण बस्ती जनपद के परशुरामपुर व कालांतर में विक्रमजोत ब्लॉक में हुआ यह भी किसी रहस्य से कम नही है। सीडीपीओ पर यह भी आरोप है कि वह अधिकांशतः अयोध्या में रहते हुए मोबाइल से ही ड्यूटी करती हैं।

इन सबके बीच एक और चौंकाने वाला तथ्य यह भी सामने आया है कि बाल विकास परियोजना विक्रमजोत के सुपरवाइजर कुमुद सिंह द्वारा सीडीपीओ लक्ष्मी पाण्डेय से मिलीभगत करके ड्राई राशन व पौष्टिक आहार वितरण में भारी घोटाला करते हुए तमाम आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के साथ भेदभाव किया जाता है जिसका एक उदाहरण यह भी है कि चार गांव वाले आंगनबाड़ी केंद्र के सैकड़ों लाभार्थियों के मध्य केवल  तीस से चालीस पैकेट ड्राई राशन जबकि मात्र एक गांव वाले आँगनबाड़ी केंद्र पर साठ से नब्बे पैकेट पौष्टिक आहार दिया जाता है। गोपनीयता की शर्त पर कई आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने संवाददाता को बताया कि उन्हें एक बार मिलने वाले पौष्टिक आहार को तीन बार लिखित में दिखाना पड़ता है जबकि इसी सुपरवाइजर व सीडीपीओ द्वारा प्रति बच्चे व लाभार्थी के फीडिंग के लिए धन उगाही तक की जाती है।

इन सबके बीच सबसे बड़ा चौंकाने वाला तथ्य भी सामने आया  है कि आखिर किस भय से ग्रसित इसी विभाग के जिला व प्रदेश के अधिकारी इस रामनगर की आंगनबाड़ी कार्यकत्री सुमनलता पाण्डेय, विक्रमजोत की सुपरवाइजर कुमुद सिंह व सीडीपीओ लक्ष्मी पाण्डेय के आगे नतमस्तक हैं ? हालात तो इतने बदतर हैं कि इस विभाग के जिला कार्यालय व ब्लॉक कार्यालय द्वारा आरटीआई का कोई जवाब भी नही दिया जाता व न ही शिकायतों पर कोई कार्यवाही ही होती है।

उधर इन्ही प्रकरण पर बात करने पर समाजसेवी अधिवक्ता आर के पाण्डेयका ने बताया है खुद उन्होंने भी विगत एक वर्ष में अनेकों शिकायतें करके उपरोक्त तीनो आरोपियों के लाई डिटेक्टर टेस्ट कराने, इनके सीडीआर उपलब्ध कराने तथा रामनगर के आंगनबाड़ी कार्यकत्री व उसके दोनो बच्चों के डीएनए टेस्ट की मांग सहित पूरे प्रकरण की उच्चवह स्तरीय जांच व विधिक कार्यवाही की मांग की है। हाई कोर्ट इलाहाबाद के अधिवक्ता आर के पाण्डेय का कहना है कि आकण्ठ तक भ्रष्टाचार में डूबे इस आंगनबाड़ी कार्यकत्री, सुपरवाइजर व सीडीपीओ को बचाने में इनका विभाग इतना मशगूल हो गया है कि वह भारतीय संसद से पारित व पूरे देश में लागू आरटीआई ऐक्ट,2005 को मानता ही नही अतएव इस प्रकरण से जुड़े सभी अधिकारियों के विरुद्ध कठोरतम कार्यवाही प्रशासन व सरकार द्वारा किये जाने की अपेक्षा है। भ्रष्टाचारमुक्त भारत अभियान चला रहे पीडब्ल्यूएस प्रमुख आर के पाण्डेय एडवोकेट का कहना है कि विभाग को विक्रमजोत ब्लॉक के सभी आंगनबाड़ी, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों, सहायिकाओं, सुपरवाइजर व सीडीपीओ के मोबाइल नम्बर को जीपीएस से अटैच करके सीधे प्रदेश कार्यालय की निगरानी में रखा जाए जिससे इन सबकी वास्तविक उपस्थिति का पता चल सके तथा वास्तविकता का खुलासा हो सके।

हाजीपुर। व्यवहार न्यायालय हाजीपुर जिला विधिज्ञ संघ भवन में अधिवक्ता राजकुमार दिवाकर की अध्यक्षता एवं भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य किसान म...