Monday, November 9, 2020

होटल मौर्या में दो दिवसीय बुटिक्स ऑफ इंडिया प्रदर्शनी का हुआ शुभारंभ

 


पटना। 8 नवंबर 2020। रविवार को होटल मौर्या में बुटिक्स ऑफ इंडिया प्रदर्शनी पटना चैपटर - 2020 का शुभारंभ किया गया। इस प्रदर्शनी का शुभारंभ बुटिक्स ऑफ इंडिया के निदेशक श्री संजय अग्रवाल द्वारा फीता काटकर किया गया।

इस अवसर पर उपस्थित बुटिक्स ऑफ इंडिया के निदेशक श्री संजय अग्रवाल ने कहा बताया कि बुटिक्स ऑफ इंडिया त्योहारों और शादी के मौसम के शुरू होने से ठीक पहले के समय में अपने ग्राहकों के लिए यहां उपस्तिथ हो गया हैं। यह प्रदर्शनी सुबह 10ः30 बजे से लेकर रात 8 बजे तक सभी के लिए खुला है। पटना में फैशन और जीवनशैली के बदलते रुझानों का लाभ उठाने के लिए 2 दिवसीय प्रदर्शनी में 15 स्टॉल्स लगाए गए हैं जिनमें देश के सभी राज्यों के डिजाइनर कपड़े, ज्वेलरी, घरेलू सजावट उत्पाद, फुटवेयर्स आदि उपलब्ध हैं। इस संस्करण के लिए प्रदर्शकों में कृति जैन, एएम कोलकाता, एन ऑर्नामेंट्स, चम्पा चमेली, लिबाज वाटिका, उडान और कई अन्य शामिल हैं

हमने प्रदर्शनी के इस संस्करण को हमारे आगंतुकों और खरीदारों की मांगों को ध्यान में रखते हुए विशेष रूप से दुल्हन और त्यौहार संग्रह की मांग के साथ-साथ भारत-पश्चिमी पैटर्न पर ध्यान केंद्रित किया है। पटना के फैशन ट्रेंड और डिमांड को ध्यान में रखते हुए इस दो दिवसीय प्रदर्शनी में हम अफोर्डेबल कीमतों पर लग्जरी लाने की कोशिश करते हैं और यह हमारा यूएसपी है।

संजय अग्रवाल ने कहा कि कोरोना की इस महामारी ने आज सभी सामाजिक गतिविधियों पर विराम लगा दिया है जिसमें खरीदारी भी शामिल है। त्योहारों और शादियों के इस समय मे हम आपकी खरीदारी करने की जरूरत को बखूबी समझते है। यही कारण है कि हम आपके लिए एक ही छत के नीचे अपने  सर्वश्रेष्ठ क्यूरेट का संग्रह लाए हैं। यह संग्रह आपके दिवाली, छठ पूजा और आगामी शादी के मौसम के लिए जरूरी खरीदारियों के लिए आवश्यक है। इसलिए भारत की इस सबसे बड़े संग्रह का लाभ लेना न भूलें। हमने यह सुनिश्चित किया है कि मेहमानों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पॉप-अप पर सभी सरकारी प्रोटोकॉल का पालन किया जाए। नियमित रूप से स्वच्छता, तापमान की जांच, सामाजिक भेद मानदंड, आदि का अच्छी तरह से पालन किया जाएगा।

No comments:

#बड़वाघाट_मेला #अपना_गाँव

आस्था व परंपरा की परिपाटी से जुड़े छपरा जिले के मशरख प्रखण्ड के अरना पंचायत मे घोघारी नदी के तट पर विगत डेढ़ वर्ष से भी ज्यादा समय से कार्ति...