Monday, November 16, 2020

रांची :16 नवंबर 2020 : कोरोनावायरस मुक्त भारत बनाने के लिए केंद्र सरकार ने जैसे ही पुरे देश की बागडोर अपने हाथों में लिया ।



रांची :16 नवंबर 2020 : कोरोनावायरस मुक्त भारत बनाने के लिए केंद्र सरकार ने जैसे ही पुरे देश की बागडोर अपने हाथों में लिया। वैसे ही एक राष्ट्रीय स्तर और विश्व इतिहास का सबसे बड़ा राजनीतिक खेल शुरू हो गया। कोरोनावायरस काल में पहली बार पूरे देश में बिहार विधानसभा चुनाव के साथ ही हुआ। चुनाव आयोग ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चुनावी प्रक्रिया को कागजों में कठोर दिखाया, परंतु स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैलियों में किसी भी नियमावली का पालन करना उचित नहीं समझा।





चुनाव आयोग की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति लापरवाही दो बातें स्पष्ट करती हैं कि जो प्रधानमंत्री 1-2 कोरोनावायरस के मरीज होने पर पुरे भारतीयों के जीवन धारा को रोक दिया। बिहार चुनाव में प्रचार के रूप में आने से पहले लंबी-लंबी फेंकने वाले की रैली कहीं से भारत के प्रधानमंत्री के दिशा-निर्देशों का पालन नरेंद्र मोदी ने नहीं किया। इसलिए जरूरी क़दम उठाने के नाम पर जो खेल लगातार चल रहा है वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। ग़ैर ज़िम्मेदाराना हरकतों के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमेशा याद किए जाएंगे। बिहार चुनाव में अपने आपको बिहार का बेट कहने वाले नरेंद्र मोदी चुनाव की समाप्ति के साथ ही छठ पूजा पर चोट लगा दी। वहीं झारखंड सरकार ने भी अपनी भूमिका को निभाने में असक्षम लगातार नज़र आई। अभी अभी लगभग चुनाव आयोग ने झारखंड में भी उपचुनाव कराये, तब कोरोनावायरस का फैलाव नहीं हुआ था। लेकिन चुनाव खत्म होने के साथ ही छठ पूजा पर प्रतिबंध लगाने के विभिन्न आयामों पर काम शुरू हो गया।

इस संबंध में युवा कांग्रेस कमिटी प्रवक्ता उज्जवल तिवारी ने कहा कि झारखंड सरकार की ओर से आने वाला महापर्व छठ के लिए जो गाइडलाइन जारी की गई है जिसमें यह मुख्य रूप से कहा गया है कि महापर्व  मैं घाट और नदी में नहीं जाया जा सकता है । झारखंड सरकार से अनुरोध करता हूं इस गाईडलाइन में पुनर्विचार करें जन भावनाओं का भावना को सम्मान करते हुए झारखंड सरकार इस गाईडलाइन में चेंज  लाए। तिवारी ने कहा कि छठ पूजा झारखण्ड में बहुत ही महत्वपूर्ण रूप से मनाया जाता है अतः इसको देखते हुए झारखण्ड सरकार इस कोरोना महामारी के कारण समाजिक दूरी पालन करते हुए इस गाईडलाइन पर पुनर्विचार करें।

No comments:

हाजीपुर। व्यवहार न्यायालय हाजीपुर जिला विधिज्ञ संघ भवन में अधिवक्ता राजकुमार दिवाकर की अध्यक्षता एवं भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य किसान म...