Sunday, May 17, 2020

प्रशिक्षण के दो साल बाद भी नही मिला नवप्रशिक्षित शिक्षकों एरियर: संघ

http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
वैशाली 15.05.2020/कोरोनावायरस जैसी वैश्विक महामारी का दंश पूरा विश्व झेल रहा है वहीं बिहार में नियोजित शिक्षक, वेतन बंदी, बकाया वेतन अंतर राशि से दोहरी मार झेल को अभिशप्त हैं। गौरतलब है कि अपनी विभिन्न मांगों को लेकर सूबे बिहार के शिक्षक हड़ताल पर चले गए थे। बिहार सरकार शिक्षकों के वेतन भुगतान एवं बकाया वेतन अंतर राशि पर गैर संवैधानिक ढंग से रोक लगा दी थी। 
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
ऐसे में अल्पवेतन भोगी नियोजित शिक्षकों के सामने भुखमरी की समस्या सुरसा की मानिंद मुंह फैलाए खड़ी है। वेतन के अभाव में 65 से अधिक शिक्षकों की अकाल मृत्यु हो गई। वेतन बंदी की मार झेल रहे शिक्षक कहीं सब्जी तो कहीं पकौड़े बेचने को मजबूर हैं।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
इस बाबवत टीईटी-एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ गोपगुट के जिलाध्यक्ष श्री प्रेमशंकर सिंह एवं जिलाउपाध्यक्ष विमलेश कुमार सिंह, जिलासचिव संजीव कुमार, जिला कोषाध्यक्ष रणविजय कुमार, मिडिया प्रभारी राजेश कुमार पासवान के साथ कहा कि नवप्रशिक्षित शिक्षकों का प्रशिक्षण सम्पन्न हुए दो साल बीत गया पर आलम यह है कि अभी तक नवप्रशिक्षित शिक्षकों का बकाया वेतन अंतर राशि कि भुगतान नहीं हुआ है।
http://codelovertechnology.com/
http://codelovertechnology.com/
सुनने में बेहद हास्यास्पद है कि वैशाली जिले के कुछेक प्रखंडों में प्रशिक्षण के उपरांत भी शिक्षकों को अप्रशिक्षित का वेतन प्राप्त हो रहा है। जिला अध्यक्ष श्री प्रेमशंकर सिंह ने कहा कि नवप्रशिक्षित शिक्षक विभागीय पत्रों एवं पदाधिकारियों को मकड़जाल में फस भूखे मरने को विवश हैं। सरकार को अविलंब वैतन निर्धारण की दुश्वारियां को समाप्त कर अविलंब वेतन, नवप्रशिक्षित शिक्षकों का बकाया वेतन अंतर राशि जारी करें। कोरोनावायरस जैसी वैश्विक महामारी में अपने कर्मचारियों की देखभाल करना सरकार की नैतिक जिम्मेदारी है।

No comments:

पंच, सरपंच, उपसरपंच एवं न्याय मित्र, न्याय सचिव द्वारा जनहित राज्य व राष्ट्रहित में : अमोद कुमार निराला

http://www.ahaannews.com/ स्वच्छ भारत निर्माण परिषद एवं टीम जयपुर राजस्थान द्वारा राजापाकर प्रखंड क्षेत्र के रामपुर रत्नाकर सरसई गढ नि...