Sunday, May 17, 2020

शिक्षक बनने की टूटी आस, एसटीईटी की परीक्षा रद्द

http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
वैशाली 17.05.2020/ बिहार में शिक्षक बनने की बांट देख रहे लाखों शिक्षित नौजवानों की आशा पर तुषारापात उस समय हो गया जब परीक्षा परिणाम घोषित होने के दो तीन दिन पहले एसटीईटी की परीक्षा रद्द कर दी गई। गौरतलब है कि बिहार की माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षक बहाली हेतु एसटीईटी की परीक्षा पिछले दिसंबर माह में आयोजित हुई थी।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
इस बाबवत टीईटी-एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ गोपगुट के जिलाध्यक्ष प्रेमशंकर सिंह ने कहा कि सरकार की मंशा शिक्षा एवं शिक्षक विरोधी है, आज जब परीक्षा परिणाम घोषित होने के कुछ दिन शेष रह गए थे तो सरकार ने षड्यंत्र के तहत परीक्षा रद्द दी।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
गोपगुट संध के जिला उपाध्यक्ष विमलेश कुमार सिंह, जिला सचिव संजीव कुमार और मीडिया प्रभारी राजेश कुमार पासवान का कहना है कि सरकार राष्ट्रीय शिक्षा नीति के मसौदे में पूर्व प्राथमिक से लेकर उच्चतर माध्यमिक तक की शिक्षा को शिक्षा के अधिकार अधिनियम के अंतर्गत लाना चाहती है पर समुचित बजट मुहैया नहीं कराती। परीक्षा रद्द होने से माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में शिक्षकों की भारी कमी से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा बाधित रहेगी।
http://codelovertechnology.com/
संध के जिला संयोजक दिनेश कुमार ओझा, जिला कोषाध्यक्ष रणविजय कुमार और जिला महासचिव पंकज कुमार ने कहा कि सरकार जानबूझकर लोककल्याण कारी योजनाओं को चुनावी वर्ष में ले जाती है ताकि चुनावी लाभ आमजनमानस से प्राप्त हो।  एसटीईटी की परिक्षा परिणाम के कुछ दिन पूर्व रद्द करने से सरकार की रोजगार विरोधी, नौजवानों विरोधी नीतियों की निकृष्ट चेहरा का पर्दाफाश हो गया।

No comments:

पंच, सरपंच, उपसरपंच एवं न्याय मित्र, न्याय सचिव द्वारा जनहित राज्य व राष्ट्रहित में : अमोद कुमार निराला

http://www.ahaannews.com/ स्वच्छ भारत निर्माण परिषद एवं टीम जयपुर राजस्थान द्वारा राजापाकर प्रखंड क्षेत्र के रामपुर रत्नाकर सरसई गढ नि...