Friday, May 22, 2020

पंच, सरपंच, उपसरपंच एवं न्याय मित्र, न्याय सचिव द्वारा जनहित राज्य व राष्ट्रहित में : अमोद कुमार निराला

http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
स्वच्छ भारत निर्माण परिषद एवं टीम जयपुर राजस्थान द्वारा राजापाकर प्रखंड क्षेत्र के रामपुर रत्नाकर सरसई गढ निवास अमोद कुमार निराला प्रदेश अध्यक्ष पंच सरपंच संघ बिहार को कोरोना योद्धा सम्मान से सम्मानित होने पर सैकड़ों प्रबुद्ध जन प्रतिनिधि एवं समर्थक हर्षोल्लासित है तथा बधाइयों का तांता लगा है।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/

ज्ञात हो कि कोरोना कोविड-19 वैश्विक महामारी के इस महा संकट की घड़ी में श्री निराला द्वारा जनहित राज्य व राष्ट्रहित में निरंतर राज्य व केंद्र सरकार तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन के दिशा निर्देशों में सूबे के सभी 38 जिला के पंच सरपंच उपसरपंच एवं न्याय मित्र न्याय सचिव भाई बहनों के माध्यम से निरंतर चलाया जा रहा जन जागृति अभियान गरीब मजदूर असहाय निशक्त ग्रामीणों के बीच राशन मास्क साबुन सैनिटाइजर आदि निशुल्क वितरण किया व कराया जाता रहा है इसके लिए श्रेष्ठ कोरोना जोधा के रूप में सम्मान प्रशस्ति पत्र अंग वस्त्र प्राप्त हुआ ।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
श्री निराला वरिष्ठ समाजसेवी के साथ साथ एंटी कोरोना टास्क फोर्स के राज्य अध्यक्ष हैं और बिहार के चर्चित व्यक्तित्व हैं लगातार इन्हें मिलने वाला सम्मान से गांव सहित सूवे के सवा लाख ग्राम कचहरी प्रतिनिधि और कर्मी के साथ-साथ जिला परिषद सदस्य आनंद भारती सरपंच संघ अध्यक्ष सिंगारी देवी पूर्व मुखिया चंदन कुमार मुखिया उर्मिला देवी पैक्स अध्यक्ष रवि रंजन शर्मा सरपंच पूनम कुमारी सचिव कुमारी आरती चंदन कुमार आदि काफी हर्षित है तथा शुभकामनाओं की झड़ी लगी हुई है।
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
कोरोना योद्धा सम्मान प्राप्त करने वाले अमोद कुमार निराला ने बताया की कोरोना कोविड-19 से ग्रसित लोगों को मदद करनी चाहिए उनका उपहास करना गलत है यह वैश्विक महामारी से आज संपूर्ण विश्व लड़ रहा है जन-जन को आगे आकर अपना योगदान जनहित राज्य व राष्ट्र हित में देने की जरूरत है।कुछ अज्ञान लोग दुष्प्रचार और तरह-तरह की अफवाहें फैलाते हैं जो अपराध की श्रेणी में आता है। इससे बचें और अपने आप को सुरक्षित रखते हुए जन जन को सुरक्षित रखने में अपनी भूमिका निभानी होगी। इसके लिए बिहार के सभी ग्राम कचहरी एवं त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधि भाई बहनों के साथ-साथ सामाजिक संगठन सहित जन-जन को आगे आने की आवश्यकता है। इस सम्मान के लिए मैं स्वच्छ भारत निर्माण परिषद के अध्यक्ष भगवत गौर एंटी कोरोना टास्क फोर्स के अध्यक्ष जितेंद्र चौधरी एवं टीम जयपुर राजस्थान का आभार व्यक्त करता हूं।

Sunday, May 17, 2020

जरूरतमंदो की मदद के लिये आगे आयी ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन

http://codelovertechnology.com/
http://codelovertechnology.com/
पटना 09 मई सामाजिक संगठन ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन (जीएसएफ) जरूरतमंद लोगों की मदद के लिये आगे आयी है भोजन सामग्री सहित अन्य जरूरी सामग्री मुहैया करने में लग गयी है। पूरी दुनिया घातक कोरोना वायरस की चपेट में है। भारत सरकार द्वारा घोषित राष्ट्रव्यापी बंद के कारण, कई गरीब बिहारी देश के विभिन्न हिस्सों में बिना किसी भोजन या पैसे के फंस गए हैं। संकट के इस समय में ऐसे जरूरतमंद लोगों की मदद करने के लिए, ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन ने उन्हें भोजन सामग्री सहित मानवीय सेवाओं की आवश्यकता मुहैया करने हेतु मदद का हाथ बढ़ाया है। ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन संकट के इस समय में जरूरतमंद लोगों का समर्थन करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रहा है, उन्हें भोजन और मानवीय सेवाओं की आवश्यकता है।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन संकट के इस समय में जरूरतमंद लोगों का समर्थन करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रहा है, उन्हें भोजन और मानवीय सेवाओं की आवश्यकता है। ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन की टीम, जिसका नेतृत्व श्री गंगा कुमार कर रहे हैं, व्यक्तिगत और व्यावसायिक दोनों स्तरों पर अपने नौकरशाहों के समर्थन से कोरोना राहत का अभियान कर रही है। दैनिक यात्रियों और प्रवासियों का समर्थन करने के लिए एक टोल फ्री नंबर जारी किया गया है। कोई भी जरूरतमंद लोग इस नंबर पर ग्राम स्नेह फाउंडेशन से संपर्क कर सकते हैं। बिहार के लिए 9798276752; दिल्ली-एनसीआर के लिए सोराज (8285041608) और जम्मू-कश्मीर के लिए इनाम (7006291370)  ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन, ऑयल एंड नेचुरल गैस लिमिटेड, भारत सरकार, दिल्ली के सहयोग से, 1250 पीपीई किट, 1250 N95, 150 लिमिटेड हैंड सैनिटाइज़र और अन्य चिकित्सा उपकरण प्रदान किए गए हैं, जिन्हें डॉ।
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
वीएमएल करक, सुपद, पटना को सौंप दिया गया है। मेडिकल कॉलेज और अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग, बिहार के कई डॉक्टर डॉ। दिनेश कुमार, अस्सिटेंट प्रोफेसर, पीएमसीएच, संपूर्ण टीम जैसे डी। आलिया, रईस उल हक़ रफ़ीक़ी, एफ आज़ज़्म, एमडी मोहिउद्दीन, राहुल, संतोष और कई डॉक्टरों की उपस्थिति में अन्य लोग जिन्होंने इस महान कार्य के लिए स्वयं सेवा की है। ऐसे उपकरण का उपयोग फ्रंटलाइन स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों पर विशेष ध्यान देने के साथ) के लिए किया जाएगा जो कोरोना प्रभावित रोगियों के लिए दिन-रात काम कर रहे हैंडॉ। विमल करक ने टीम ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन के प्रयासों की सराहना की और बताया कि जीएसएफ कोरोना प्रभावित रोगियों के कल्याण के लिए दिन-रात काम कर रहा है और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को फ्रंटलाइन कर रहा है।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
ग्रामीण स्नेह संगठन एक पंजीकृत स्वायत्त संस्थान है, जिसका उद्देश्य लोगों में स्वास्थ्य सुरक्षा और अन्य गंभीर बीमारियों के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए कार्यक्रम आयोजित करना है। इसके अनुरूप, संस्था पिछले नौ वर्षों से गांवों में कैंसर-उन्मूलन कार्यक्रम आयोजित करने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रही है और आम लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी परीक्षण, कैंसर जागरूकता और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, जिसके माध्यम से इसकी रोकथाम के लिए विचार प्रदान किए गए हैं। इसके अलावा ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन अपनी विंग बिहार एक विराट के माध्यम से आगामी पीढ़ी के बीच बिहार की समृद्ध कला, संस्कृति और विरासत को बढ़ावा देने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहा है।

नम्रता आनंद नेकिन्नरों के बीच बांटी राशन सामग्री

http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
पटना 12 मई समाज सेविका एवं शिक्षिका डॉ नम्रता आनंद ने दोस्ताना सफर की कोऑर्डिनेटर रेशमा प्रसाद के साथ मिलकर दानापुर, दीघा, कुर्जी, खगोल, बिहटा, कोईलवर, आरा, बिहिया एवं वैशाली  किन्नरों के बीच राशन सामग्री, मास्क, सैनिटाइजर और साबुन का वितरण किया।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
नम्रता आनंद एवं उनकी सारी टीम की तरफ से राज्य खाद्य आयोग के चेयरमैन श्री विद्यानंद विकल जी को बहुत-बहुत धन्यवाद देती हैं जिनके द्वारा दिए गए पास से समाज के गरीब, जरूरतमंदों, बेसहारा और स्लम बस्ती में रहने वाले लोगों ,किन्नरों, और दिव्यांगों की सेवा की जा रही है।
http://codelovertechnology.com/
http://codelovertechnology.com/
इस वैश्विक महामारी में लॉक डाउन के दूसरे चरण मे राजकीय शिक्षक सम्मान से सम्मानित शिक्षिका डॉ नम्रता आनंद द्वारा लगातार दिव्यांगों, बस्ती के गरीब लोगों, किन्नरों, फल ,अंडा ,सब्जी, पान मसाला बेचने वालों, दूध वालों, किरानी की दुकान वालों, ऑटो रिक्शा वालों एवं मजदूर वर्ग को दीदी जी फाउंडेशन की तरफ से निशुल्क मास्क , साबुन एवं सैनिटाइजर का वितरण किया जा रहा है। अब तक करीब 4000 मास्को का निशुल्क वितरण किया जा चुका है।
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
नम्रता ने बताया कि समाज की चरमराई हुई आर्थिक स्थिति ने पूरे समाज को झकझोर कर रख दिया है। नम्रता सक्षम लोगों से यह अपील की है कि वह जरूरतमंदों लोगों के लिए आगे आए और समाज के चरमराई हुई स्थिति को सुधारने में गरीब लोगों को किन्नरों एवं दिव्यांगों को राशन,मास्क, स्वच्छता किट, साबुन और सैनिटाइजर उपलब्ध कराएं। दीदी जी फाउंडेशन की टीम के सदस्य मैं जेनब अंजुम, प्रियंका, विमल प्रकाश, जाहिदा, राजू जी, सोनू, कोमल सोनी, रत्नेश, अंकिता, ललिता देवी, कुंदन कुमार मल्लिक, नीतू कुमारी और मनीषा ने कार्यक्रम को सफल बनाने में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।

कोरोना की जंग में जरूरतमंद लोगों की मदद के लिये आयी कंचन सिंह

http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
पटना 16 मई कोरोना वायरस की जंग में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेत्री और समाजसेविका कंचन सिंह  लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों की मदद करने के लिये आगे आ गयी हैं।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
इन दिनों पूरी दुनिया में कोरोनो वायरस का प्रकोप देखने को मिल रहा है।कोरोना वायरस से बचाव के लिए पूरे देश में लॉकडाउन है। गरीब तबके के लोगो के बीच राशन की समस्या उत्पन हो गयी है।
http://codelovertechnology.com/
http://codelovertechnology.com/
बांकीपुर विधानसभा के लोकप्रिय विधायक नितिन नवीन और  कानून मंत्री सह पटना के सांसद रविशंकर प्रसाद के निर्देश पर भाजपा नेत्री कंचन सिंह आगे आकर लोगों की मदद कर रही हैं। कंचन सिंह राजधानी पटना के श्रीकृष्णानगर, बोरिंग कनाल रोड ,बुद्धा कॉलोनी समेत कई इलाकों में जरूरतमंदों के बीच भोजन और अन्य जरूरी सामान और मास्क बांटने में लगी हुयी हैं।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
उन्होंने लोगो से हमेशा मास्क पहनकर बाहर निकलने की अपील की है।कंचन सिंह ने कहा कि लौकडॉन 0.4 में भी हमलोगों जरूरतमंद परिवार को चिन्हित कर राशन मुहैया करायेंगे।उन्होंने सभी लोगों से संकट की इस घड़ी में जरूरतमंदों के लिए आगे आने की अपील की है।

कोरोनटाइन केन्द्र पर प्रतिनियोजित शिक्षकों को मिले 50 लाख की बीमा एवं जरूरी सुरक्षा उपकरण: संघ

http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
वैशाली 13/05/2020 आज संपूर्ण विश्व कोरोनावायरस जैसी वैश्विक महामारी का दंश झेल रहा है। बिहार भी इस महामारी से अछूता नहीं है। हालांकि बिहार सरकार कोरोना को लेकर सतर्क है।  इस महामारी की रोकथाम के लिए अन्य कर्मचारियों के साथ शिक्षकों को भी प्रतिनियोजित किया गया है।   
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
कोरोनटाइन केन्द्रों पर प्रतिनियुक्त शिक्षकों को सुरक्षा बीमा एवं जरूरी सुरक्षा उपकरण नहीं उपलब्ध होने से निराशा है। इस बाबवत बात करते हुए टीईटी-एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ  गोपगुट के जिलाध्यक्ष  श्री प्रेमशंकर सिंह एवं जिला उपाध्यक्ष विमलेश कुमार सिंह, जिला संयोजक दिनेश कुमार ओझा, जिला सचिव संजीव कुमार
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
जिला कोषाध्यक्ष रणविजय कुमार, जिला महासचिव पंकज कुमार, जिला मीडिया प्रभारी राजेश कुमार पासवान के साथ कहा कि शिक्षक संवेदनशीलता एवं मानवता की रक्षा के लिए कोरोना वारियर्स बन सेवा में रात दिन लगे हैं। ऐसे में सरकार की नैतिक जिम्मेदारी है कि अपने कर्मचारियों के हितों का ख्याल रखें। जहां केन्द्र सरकार एवं अन्य सरकारें कोरोना वारियर्स के रूप में पच्चास लाख की अनुग्रह राशि दे रही है।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/

वहीं बिहार सरकार नियोजित शिक्षकों समेत अन्य संविदा कर्मियों को चार लाख अनुग्रह राशि दे रही है, जो कहीं से न्यायोचित एवं न्यायसंगत नहीं है। कोरोनाटाइन केन्द्रों पर सुरक्षा उपकरण यथा मास्क, सेनेटाइजर, ग्लब्स के साथ शिक्षकों समेत अन्य संविदा कर्मियों को भी पच्चास लाख की सुरक्षा बीमा सरकार दें।

प्रशिक्षण के दो साल बाद भी नही मिला नवप्रशिक्षित शिक्षकों एरियर: संघ

http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
वैशाली 15.05.2020/कोरोनावायरस जैसी वैश्विक महामारी का दंश पूरा विश्व झेल रहा है वहीं बिहार में नियोजित शिक्षक, वेतन बंदी, बकाया वेतन अंतर राशि से दोहरी मार झेल को अभिशप्त हैं। गौरतलब है कि अपनी विभिन्न मांगों को लेकर सूबे बिहार के शिक्षक हड़ताल पर चले गए थे। बिहार सरकार शिक्षकों के वेतन भुगतान एवं बकाया वेतन अंतर राशि पर गैर संवैधानिक ढंग से रोक लगा दी थी। 
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
ऐसे में अल्पवेतन भोगी नियोजित शिक्षकों के सामने भुखमरी की समस्या सुरसा की मानिंद मुंह फैलाए खड़ी है। वेतन के अभाव में 65 से अधिक शिक्षकों की अकाल मृत्यु हो गई। वेतन बंदी की मार झेल रहे शिक्षक कहीं सब्जी तो कहीं पकौड़े बेचने को मजबूर हैं।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
इस बाबवत टीईटी-एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ गोपगुट के जिलाध्यक्ष श्री प्रेमशंकर सिंह एवं जिलाउपाध्यक्ष विमलेश कुमार सिंह, जिलासचिव संजीव कुमार, जिला कोषाध्यक्ष रणविजय कुमार, मिडिया प्रभारी राजेश कुमार पासवान के साथ कहा कि नवप्रशिक्षित शिक्षकों का प्रशिक्षण सम्पन्न हुए दो साल बीत गया पर आलम यह है कि अभी तक नवप्रशिक्षित शिक्षकों का बकाया वेतन अंतर राशि कि भुगतान नहीं हुआ है।
http://codelovertechnology.com/
http://codelovertechnology.com/
सुनने में बेहद हास्यास्पद है कि वैशाली जिले के कुछेक प्रखंडों में प्रशिक्षण के उपरांत भी शिक्षकों को अप्रशिक्षित का वेतन प्राप्त हो रहा है। जिला अध्यक्ष श्री प्रेमशंकर सिंह ने कहा कि नवप्रशिक्षित शिक्षक विभागीय पत्रों एवं पदाधिकारियों को मकड़जाल में फस भूखे मरने को विवश हैं। सरकार को अविलंब वैतन निर्धारण की दुश्वारियां को समाप्त कर अविलंब वेतन, नवप्रशिक्षित शिक्षकों का बकाया वेतन अंतर राशि जारी करें। कोरोनावायरस जैसी वैश्विक महामारी में अपने कर्मचारियों की देखभाल करना सरकार की नैतिक जिम्मेदारी है।

शिक्षक बनने की टूटी आस, एसटीईटी की परीक्षा रद्द

http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
वैशाली 17.05.2020/ बिहार में शिक्षक बनने की बांट देख रहे लाखों शिक्षित नौजवानों की आशा पर तुषारापात उस समय हो गया जब परीक्षा परिणाम घोषित होने के दो तीन दिन पहले एसटीईटी की परीक्षा रद्द कर दी गई। गौरतलब है कि बिहार की माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षक बहाली हेतु एसटीईटी की परीक्षा पिछले दिसंबर माह में आयोजित हुई थी।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
इस बाबवत टीईटी-एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ गोपगुट के जिलाध्यक्ष प्रेमशंकर सिंह ने कहा कि सरकार की मंशा शिक्षा एवं शिक्षक विरोधी है, आज जब परीक्षा परिणाम घोषित होने के कुछ दिन शेष रह गए थे तो सरकार ने षड्यंत्र के तहत परीक्षा रद्द दी।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
गोपगुट संध के जिला उपाध्यक्ष विमलेश कुमार सिंह, जिला सचिव संजीव कुमार और मीडिया प्रभारी राजेश कुमार पासवान का कहना है कि सरकार राष्ट्रीय शिक्षा नीति के मसौदे में पूर्व प्राथमिक से लेकर उच्चतर माध्यमिक तक की शिक्षा को शिक्षा के अधिकार अधिनियम के अंतर्गत लाना चाहती है पर समुचित बजट मुहैया नहीं कराती। परीक्षा रद्द होने से माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में शिक्षकों की भारी कमी से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा बाधित रहेगी।
http://codelovertechnology.com/
संध के जिला संयोजक दिनेश कुमार ओझा, जिला कोषाध्यक्ष रणविजय कुमार और जिला महासचिव पंकज कुमार ने कहा कि सरकार जानबूझकर लोककल्याण कारी योजनाओं को चुनावी वर्ष में ले जाती है ताकि चुनावी लाभ आमजनमानस से प्राप्त हो।  एसटीईटी की परिक्षा परिणाम के कुछ दिन पूर्व रद्द करने से सरकार की रोजगार विरोधी, नौजवानों विरोधी नीतियों की निकृष्ट चेहरा का पर्दाफाश हो गया।

Saturday, May 9, 2020

राज्य सरकार ने झारखंड वासियों के वापसी हेतु ऑनलाइन झारखंड यात्रा पंजीकरण पत्र जारी किय

https://local.google.com/place?id=10279629908356512339&use=posts&lpsid=1979409761791458193
https://local.google.com/place?id=10279629908356512339&use=posts&lpsid=1979409761791458193

राँची। राज्य सरकार राज्य के बाहर फंसे सभी प्रवासी मजदूरों, प्रवासी विद्यार्थियों के सहायता के लिए प्रतिबद्ध है। राज्य सरकार द्वारा विभिन्न राज्यों एवं केंद्र सरकार से हर संभव समन्वय स्थापित किया जा रहा है जिससे वैसे झारखंडवासी वापस आ सके जो राज्य के बाहर फंसे हैं। राज्य के बाहर फंसे हुए सभी लोगों तक सरकार हर तरह की सहायता पहुंचा रही है।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/

 प्रवासी मजदूरों के राज्य के बाहर फंसे होने संबंधित रोजाना बड़ी संख्या में कॉल आ रहे हैं। राज्य सरकार के पास राज्य के बाहर एक बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूरों के फंसे होने की जानकारी प्रपात हो रही है।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/

इनकी वापसी में सहायता हेतु राज्य सरकार द्वारा  ऑनलाइन झारखंड यात्रा पंजीकरण प्रपत्र वेबलिंक http://jharkhandpravasi.in/  जारी किया गया है।  इससे राज्य के बाहर फंसे मजदूर जो वापस आना चाहते है वह खुद को पंजीकृत कर सकते हैं। जिसके जरिए उन तक सरकार की सहायता उपलब्ध कराई जा सकेगी।
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/

दूसरे राज्यों में फंसे झारखंड वासियों से अपील है कि वो संयम बरतें लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें सरकार आप तक जल्द पहुंचेगी। नए वेब लिंक के जरिये दूसरे राज्य में फंसे मजदूर/ विद्यार्थी, आदि अपने आपको रजिस्टर कराएं जिससे वे सरकार द्वारा दी जा रही सुविधा का उपयोग कर सकेंगे।

रिम्स से आज कोरोना के 23 मरीज ठीक हो कर निकले

सभी की जांच रिपोर्ट आई निगेटिव, जिला प्रशासन ने दी शुभकामनाएं
https://local.google.com/place?id=10279629908356512339&use=posts&lpsid=4180993021840400798
https://local.google.com/place?id=10279629908356512339&use=posts&lpsid=4180993021840400798

उपायुक्त ने कहा, सभी होम क्वारंटाइन में भेजे गए हैं एवं गाईडलाइन का अनुसरण करेंगे

आमजनों से की अपील, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें

शनिवार को रांची के रिम्स अस्पताल से कोरोना के 23 मरीज ठीक हो कर निकले हैं. इन सभी की रिपोर्ट लगातार निगेटिव आई है. इस खबर से उन मरीजों के परिवार वालों में खुशी है साथ ही सभी ने ठीक होनेवाले मरीजों को भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं. रिम्स रांची में पहली बार ऐसा हुआ है कि एक साथ 23 मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है.
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
शनिवार को  रिम्स से यह खबर आई कि एक साथ 23 मरीजों की कोविड-19 सैंपल रिपोर्ट लगातार नेगेटिव आई है और ये सभी संक्रमित कोरोना मुक्त घोषित किए जाते हैं. रिम्स के कोरोना वार्ड में तैनात डॉक्टरों की टीम ने यह खुशखबरी दी. उन्होंने कहा कि, यह हमारे लिए किसी जीत से कम नहीं है. यह कोरोना के खिलाफ़ लड़ाई में जीत की तरफ बढ़ रहे हमारे कदम हैं. जल्द ही पूरी रांची से कोरोना को खत्म कर देंगे."
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/

उपायुक्त, रांची श्री राय महिमापत रे ने कहा, "यह हमारे जिला के लिए एक अच्छी एवं पॉजिटिव खबर है. जल्द ही हम सभी कोरोना के खिलाफ़ इस लड़ाई में जीत हासिल करेंगे और जनजीवन पटरी पर लौट आएगी."
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
"मेरा सभी रांचीवासियों से अपील है कि कोरोना से बचें, दूसरों को भी बचाएं, सोशल/फिजिकल डिस्टेन्सिंग का पालन करें. इस बात का हमेशा ध्यान रखें. साथ ही, ठीक हो कर लौटने वाले मरीजों के साथ किसी भी प्रकार का सामाजिक दुर्व्यवहार न करें. इसके लिए खुद और दूसरों को भी जागरुक करें." 

क्या लोग अपने घर में वापिस नहीं आ सकते...

सेलफिशनेस की हद या  फिर डिमोटिवेशनल तरीके से लोगों को परेशान करना
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
क्या लोग अपने घर  में वापिस नहीं आ सकते...

 एक तरफ पूरा देश करोना से जंग लड़ रहा है बही इस समाज के कुछ लोग अपने स्थल में आए हुए लोगों को कर रहे डीमोटिवेट और  कर रहे हैं उन पर गलत गलत कमेंट

 जैसा कि सभी को पता है हिमाचल प्रदेश में इंडस्ट्रियल एरिया किसी निर्धारित स्थान पर ही होता है तो हिमाचल  के लोग नौकरी करने के लिए निकटवर्ती इलाकों मे जाते ही.  हैं अब इस करोना महामारी की घड़ी में क्या उनको इतना भी हक नहीं है कि वह अपने गांव अपने स्थान पर पहुंचकर इस महामारी से लड़े...(with proper COVID 19 guidelines and as per govt instruction).  क्या मजदूरों को या जो भी बाहर काम कर रहा है को इतना भी हक नहीं है कि  जिसने पूरी उम्र कमाई करके अपने  घरों में खर्च करी और उनको उनके घर जाने पर बाकी लोग डि मोटिवेट करें उनको सुनाऐ.
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/

 क्या यह एक तरह की सेलफिशनेस नहीं है,  हिमाचल के बहुत सारे ग्रुप पर मैं देख रहा हूं कि लोग बाहर से आने वाले लोगों  के लिए तरह-तरह की बातें कर रहे हैं.

 वह लोग अपने घर में नहीं आएंगे तो कहां जाएंगे जो लोग बातें कर रहे हैं क्या उनके घर????

 अगर बातें करने वाले इतने ही एक्टिव हैं जिम्मेवारी लेते हैं तो अपने आसपास के लोगों को समझाएं कि जो भी व्यक्ति किसी बाहरी क्षेत्र से आया है और होम क्वॉरेंटाइन है तो बे अगर बाहर घूमता है तो आप लोग प्रशासन को बताएं. इस तरह से होती है मदद ना की किसी को डीमोटिवेट करके क्योंकि जो , होम करंट टाइन. हुए हैं वह लोग सारे  तो बेवकूफ नहीं होंगे कुछ होते हैं जो इस तरह की हरकत करते हैं सरकार की गाइडलाइंस नहीं मानते हैं तो आप उनकी शिकायत करो ना...
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
 प्रशासन की मदद करें कानून की मदद करें

 बे फालतू की बातें करके यह किसी को टारगेट करके करोना से  जंग नहीं जीती जाएगी. यह जीती जाएगी आपके और हमारे सहयोग से और हमारे कॉर्पोरेशन से जो सरकार की गाइडलाइंस नहीं मान रहा है उनकी शिकायत करने से ना की किसी को डीमोटिवेट करने से और जो लोग ज्यादा बातें कर रहे हैं कि जहां है वहां रहे क्या करोना मैडम ने उनको फोन करके बताया है कि इस तारीख को उसकी एक्सपायरी डेट हो जाएगी  कब तक वह बाहर रहेंगे
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
 घर पर रहे सुरक्षित रहे और दूसरों को भी सुरक्षित रखें. सरकार की गाइडलाइंस और चिकित्सीय सलाह का खास ध्यान रखें..  और जो लोग बाहर से आ रहे हैं मेरा उनसे निवेदन है कि वह जितने दिन उनको करंटाईन.  के लिए बोला है वह इतने दिन तक करंटाईन. रहे बाहर ना घूमे आपकी एक गलती से बहुत कुछ प्रॉब्लम हो सकती है

बिहार के 15 रेलवे स्टेशन पर बनेगा क्वारेंटाइन वार्ड

http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
बिहार के 15 रेलवे स्टेशन पर बनेगा क्वारेंटाइन वार्ड, कोविड-19 के बढ़ते खतरे को देखते हुए लिया गया फैसला
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
कोविड-19 के बढ़ते खतरे को देखते हुए इस महामारी से लड़ाई में रेलवे राज्यों के साथ कंधा से कंधा मिलाकर चलने को तैयार है. कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए पूरे भारतीय रेल में 5231 कोचों को कोविड देखभाल केंद्र के रूप में रूपांतरित किया गया है. इनमें पूर्व मध्य रेल द्वारा तैयार किए गए 269 कोचें भी शामिल हैं. इन कोचों को बेहद हल्के मामलों में उपयोग में लाया जा सकता है. जिसे केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशा-निर्देश के अनुरूप ‘कोविड देखभाल केंद्रों‘ को सौंपा जा सकता है.

http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
देश में 215 स्टेशनों में से 85 स्टेशनों पर रेलवे द्वारा स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं उपलब्ध कराया जाएगा तथा राज्य के अनुरोध पर और 130 स्टेशनों पर ये सुविधाएं उपलब्ध करायी जा सकती हैं जहां चिकित्सक सहित अन्य आवश्यक चिकित्सा सुविधा राज्य स्वयं तय करेंगे. इस संबंध में केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकारों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं. इन 215 स्टेशनों में से बिहार राज्य के 15 स्टेशन चिह्नित किए गए हैं जहां रेलवे/राज्य सरकार द्वारा स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं संचालित की जा सकती है.
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
बिहार राज्य में बरौनी, दरभंगा, जयनगर, मुजफ्फरपुर, नरकटियागंज, पटना जं., रक्सौल, सहरसा, समस्तीपुर, सीतामढ़ी, सोनपुर, जमालपुर, छपरा, सीवान एवं कटिहार सहित कुल 15 स्टेशनों पर स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं उपलब्ध करायी जा सकती हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देश के अनुरूप इन स्टेशनों पर पूर्व मध्य रेल द्वारा आइसोलेशन/क्वारंटाइन वार्ड के रूप में तब्दील किए जा चुके 269 रेलवे कोचों को खड़ा किया जा सकता है. ये कोच हर तरह की चिकित्सा सुविधाओं से युक्त होंगे. इनमें कोविड-19 से संक्रमित अथवा संदिग्ध मरीजों को आइसोलेशन/क्वारंटाइन करने की व्यवस्था है.

" सभी डाककर्मी सच्चे मायने में कोरोना-योद्धा " : ' शैलेश'.

'ईएपीएस ड्राइव' में समस्तीपुर डाक प्रमंडल ने  हासिल किया बिहार में तीसरा स्थान :  'शैलेश'.
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/

समस्तीपुर,दिनांक-09-05-2020. डाक निदेशालय के निर्देश पर कल शुक्रवार को चलाये गए 'आधार इनेबल पेमेंट सिस्टम ' के माध्यम से किसी भी बैंक के खाते से 'इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक' के द्वारा पैसे की निकासी हेतु 'स्पेशल ड्राइव' चलाया गया, जिसमें समस्तीपुर डाक प्रमण्डल अंतर्गत आईपीपीबी के द्वारा किसी भी अन्य बैंक के 12904 (बारह हज़ार नौ सौ चार) खाते से 1,03,65,518 (एक करोड़ तीन लाख पैसठ हज़ार पाँच सौ अठारह) रुपये की निकासी कर सम्पूर्ण बिहार में तीसरा स्थान हासिल किया।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
इस आशय की जानकारी समस्तीपुर प्रधान डाकघर के जनसम्पर्क निरीक्षक शैलेश कुमार सिंह ने प्रेस को दी। जनसम्पर्क निरीक्षक शैलेश कुमार सिंह ने बताया कि इस अभियान का उद्देश्य देश में  'कोरोना' (कोविड-19) महामारी के संक्रमण से बचाव हेतु केन्द्र सरकार द्वारा किये गए 'लॉक डाउन' के कारण देश में बैंकों की सीमित तादाद व अन्य कारणों से  ग्राहकों को बैंकों से पैसे निकासी में आ रही दिक्कतों व डाकघरों की पर्याप्त उपलब्धता तथा सुविधा को ध्यान रखते हुए डाक विभाग के द्वारा यह एक दिवसीय विशेष अभियान चलाया गया था, जिससे ग्राहकों की समस्या का समाधान हो सके। श्री सिंह ने आगे बताया कि समस्तीपुर डाक प्रमण्डल द्वारा चलाये गए इस अभियान में क्रमश: ईस्ट सब डिवीज़न ने 3746 अन्य बैंकों के खाते से 26,49,670 (छब्बीस लाख उन्चास हज़ार छः सौ सत्तर) रुपये की निकासी की गई, जबकि दलसिंहसराय सब डिवीज़न द्वारा 3407 (तीन हज़ार चार सौ सात) बैंक खाते से 21,62,270 (इक्कीस लाख बासठ हज़ार दो सौ सत्तर) रुपये की निकासी, रोसड़ा सब डिवीज़न द्वारा 3215 (तीन हज़ार दो सौ पंद्रह) बैंक खाते से 36,43128 (छत्तीस लाख तैतालिस हज़ार एक सौ अट्ठाईस ) रुपये की निकासी तथा वेस्ट सब डिवीज़न द्वारा 2539 (दो हज़ार पाँच सौ उन्चालिस) बैंक खाते के माध्यम से 19,10,450 (उन्नीस लाख दस हज़ार चार सौ पचास ) रुपये की निकासी की गई।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
डाक जनसम्पर्क निरीक्षक श्री सिंह ने आगे कहा कि समस्तीपुर डाक प्रमंडल द्वारा चलाये गए एक दिवसीय इस पूरे अभियान में ईस्ट सब डिवीज़न अन्तर्गत नंदेनगर शाखा के मिथिलेश पाठक ने अन्य बैंकों के 379 (तीन सौ उन्यासी) खाते से निकासी कर अधिकतम खाते से निकासी करने तथा रोसड़ा सब डिवीज़न अंतर्गत गीता देवधा शाखा डाकघर की रंजना कुमारी द्वारा 2,11,500 ( दो लाख ग्यारह हज़ार पाँच सौ ) रुपये की निकासी कर अधिकतम रकम निकासी का गौरव प्राप्त किया। श्री सिंह ने आगे कहा कि इस महामारी-काल में भी डाक विभाग अपनी समस्त सेवाएं ग्राहकों को निर्बाध रूप से प्रदान कर रहा है तथा डाक विभाग की किसी भी सेवा की जानकारी एवं समाधान हेतु मेरे मोबाईल न०- 09431252372  या 07763819709 पर किसी भी कार्य-दिवस को संपर्क किया जा सकता है।
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
अंत में जनसम्पर्क निरीक्षक शैलेश कुमार सिंह ने समस्त उन्होंने जिलावासियों व ग्राहकों से अपील करते हुए कहा कि वैश्विक महामारी की इस घड़ी में 'कोरोना' के संक्रमण से बचाव हेतु सरकारी निर्देशों का पालन करते हुए भौतिक दूरी बनाए,मास्क, हैंड सेनेटाइजर,ग्लोव्स का इस्तेमाल करें या साबुन से बार बार हाथ धोये, अनावश्यक घरों से बाहर ना निकले,भीड़-भाड़ से बचे तथा 'कोरोना महामारी के इस नाज़ुक घड़ी में देश के तमाम लोगों को सेवा देनेवाले स्वास्थ्य कर्मी,पुलिस कर्मी, सफाईकर्मी, डाककर्मी, बैंककर्मी जैसे 'कोरोना योद्धाओं के प्रति सम्मान तथा सद्भाव का व्यवहार करें और समस्त डाक सेवाओं का भरपूर लाभ लें ।

*समन्वय समिति संयोजक को पत्र लिख टीईटी एसटीईटी शिक्षकों ने मांगी जबाव"*


http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
टीईटी-एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ गोपगुट वैशाली की जिला कार्यकारिणी की बैठक ज़ूम एप्प के मदद से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संपन्न हुई। बैठक को संबोधित करते हुए संघ के जिलाध्यक्ष श्री प्रेमशंकर सिंह ने आरोप लगाया कि शिक्षक इतिहास का सबसे जुझारू एवं सफलतम हड़ताल को प्रदेश संयोजक ब्रजनंदन शर्मा जी ने सरकार के इशारे पर मनमाने ढंग से समाप्त कराने दिया। जिससे नियोजित शिक्षकों में भारी आक्रोश व्याप्त है। 
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/

जिला अध्यक्ष श्री प्रेमशंकर सिंह ने सवाल किया कि
1. क्या यह निर्णय समन्वय समिति का था? 
2. अगर हां तो किस बैठक में निर्णय हुआ। 
3. अगर नहीं तो समन्वय समिति के अस्तित्व को क्यों नकारा गया । सरकार से क्या गुप्त समझौता हुआ?
4.  कोर कमिटी के सदस्यों से टेलिफोनिक विमर्श क्यों नहीं की। कम से कम सूचना तो दिया जाना चाहिए था।
5. समन्वय समिति की बैठक में पहले से तय था कि बगैर कोर कमिटी के कोई निर्णय नहीं लिया जाएगा। इसे धता बताकर कैसे निर्णय हो गया?
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/

6. जब समीति ने अध्यक्ष पद एवं संयोजक पद समाप्त कर दिया है तो आप बार बार क्यों इस्तेमाल कर रहे हैं। 
7.अपनी गलती मानने के बजाय मीडिया एवं सोशल मीडिया पर झूठा प्रचार क्यों किया जा रहा है कि सभी कुछ सहमति थी। जबकि जिसका नाम है वह खुलेआम चुनौती दे रहा है कि  हमारे नाम का इस्तेमाल हुआ है।           
8. इस बात की क्या गारंटी है कि सरकार के साथ वार्ता में भी आप समन्वय समिति को धोखा नहीं देंगे?

       हमारे संघ का स्पष्ट मानना है कि परिस्थितियों का बहाना बनाकर हड़ताल समाप्त कराकर संघर्षशील शिक्षकों को धोखा दिया गया। अगर आप अकेले वार्ता कर भी लिया तो गैर वीतिय लाभ पर क्यों समझौता नहीं हुआ।
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
गोपगुट संध के बैठक में प्रदेश सचिव सह कोषाध्यक्ष प्रभारी संजीत कुमार गुड्डू, जिला संयोजक दिनेश कुमार ओझा, जिला महासचिव पंकज कुमार, जिला उपाध्यक्ष विमलेश कुमार सिंह, जिला सचिव संजीव कुमार, हरेश कुमार साह, जिला मीडिया प्रभारी राजेश कुमार पासवान, पातेपुर प्रखंड अध्यक्ष रणवीर पासवान, गोरौल प्रखंड अध्यक्ष नरेंद्र कुमार, वैशाली अध्यक्ष मनीष कुमार, महुआ प्रखंड अघ्यक्ष प्रीतम झा, राघोपुर प्रखंड मनीष कुमार यादव, प्रखंड संचिव मोo आजम, प्रखंड उपाध्यक्ष जितेंद्र कुमार यादव, प्रखंड प्रवक्ता मघुरेन्द सिंह, चेहराकला प्रखंड अघ्यक्ष फैजआलम, लालगंज प्रखंड अध्यक्ष विवेक कुमार, वेलसर प्रखंड अघ्यक्ष नरेन्द्र कुमार सिंह, सहदेई प्रखंड अघ्यक्ष संजय यादव, देसरी प्रखंड महासचिव निकेत सिंह, प्रखंड उपाध्यक्ष विजय कुमार, समेत अनेक शिक्षक उपस्थित रहें।

पंच, सरपंच, उपसरपंच एवं न्याय मित्र, न्याय सचिव द्वारा जनहित राज्य व राष्ट्रहित में : अमोद कुमार निराला

http://www.ahaannews.com/ स्वच्छ भारत निर्माण परिषद एवं टीम जयपुर राजस्थान द्वारा राजापाकर प्रखंड क्षेत्र के रामपुर रत्नाकर सरसई गढ नि...