Monday, September 30, 2019

3 दिनों से राजेद्र नगर आवास में कैद है, बिहार कोकिला के नाम से प्रसिद्ध पद्मश्री और पद्म विभूषण शारदा सिन्हा

प्रसिद्ध पद्मश्री और पद्म विभूषण जैसे राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित शारदा सिन्हा
प्रसिद्ध पद्मश्री और पद्म विभूषण जैसे राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित शारदा सिन्हा
पटना के राजेंद्र नगर इलाके में जलजमाव स्थिति कितनी गंभीर है। इस बात का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि बिहार कोकिला के नाम से प्रसिद्ध पद्मश्री और पद्म विभूषण जैसे राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित शारदा सिन्हा विगत 3 दिनों से राजेद्र नगर आवास में कैद है। फेसबुक पर  उन्होंने अपना दर्द साझा किया है। उसके बाद भी शासन प्रशासन हरकत में नही आया है, अभी तक नहीं पहुंचाई जा सकी है राहत। 
प्रसिद्ध पद्मश्री और पद्म विभूषण जैसे राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित शारदा सिन्हा
राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित शारदा सिन्हा
राजेंद्र नगर में ट्रेक्‍टर से पहुंचे जाप (लो) प्रमुख पप्‍पू यादव ने बांटी राहत सामग्री, मांगी देशभर से मदद, कहा – भीषण आपदा की स्थिति में हैं पटना के लोगों के साथ, और कितना पेशेंस रखे नीतीश जी, जब 15 साल में भी नहीं है आपके पास कोई मास्‍टर प्‍लान।
मधेपुरा के पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी (लो) के मुखिया को पप्‍पू यादव
मधेपुरा के पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी (लो) के मुखिया को पप्‍पू यादव
पटना, 30 सितंबर 2019 : मधेपुरा के पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी (लो) के मुखिया को पप्‍पू यादव अक्‍सर कोसी और मिथिलांचल क्षेत्र में हर साल बाढ़ के बीच लोगों की मदद करते नजर आते हैं, लेकिन आज पूर्व सांसद ने भारी बारिश से जलजमाव का मार झेल रही राजधानी पटना के राजेंद्र नगर इलाके में ट्रेक्‍टर से राहत सामग्री का वितरण लोगों के बीच किया। इस संकट की घड़ी में पप्पू यादव ने कहा कि हम भीषण आपदा की स्थिति में पटना के सभी नागरिकों के साथ हैं। लोगों को मदद करने की जरूरत है, इसलिए हम पूरी देश की जनता से अपील करते हैं कि वे मदद के लिए आगे आयें। उन्‍होंने ये भी कहा कि इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।
पप्पू यादव ने पटना की नारकीय हालात पर नीतीश सरकार पर भी जमकर हमला बोला
पप्पू यादव ने पटना की नारकीय हालात पर नीतीश सरकार पर भी जमकर हमला बोला
हालांकि, पप्पू यादव ने पटना की नारकीय हालात पर नीतीश सरकार पर भी जमकर हमला बोला और कहा कि नीतीश कुमार को शर्म आनी चाहिए कि हर बार वे अपनी नाकाकियों को प्राकृतिक आपदा बता पल्‍ला झाड़ लेते हैं। जाप (लो) अध्‍यक्ष ने कहा कि यहां जब मानसून आता है, तब सीवरेज का काम शुरू होता है। बाढ़ आती है प्रदेश में, तब नीतीश कुमार को फरक्‍का की याद आती है। जब नेपाल पानी छोड़ता है, तो हवाई सर्वेक्षण को निकलते हैं। मगर, कभी इन समस्‍याओं का 15 सालों में स्‍थाई समाधान का प्रयास नहीं किया और आज जब पटना में लोग डूबे। बाहर से आने वाले बच्‍चे बर्बाद हो गए। करोडों का नुकसान हुआ, तब कहते हैं कि स‍ब्र करो। 15 साल से तो स‍ब्र ही कर रहे थे, आखिर कब तक ऐसे चलेगा। डबल इंजन वाली सरकार सिर्फ जुमलों की सरकार है। यह लोगों को समझना होगा। आखिर क्‍यों 15 सालों में प्रदेश के एकमात्र शहर पटना के लिए कोई मास्‍टर प्‍लान नहीं है।
नेताओं और अधिकारियों को भी कटघरे में खड़ा कर दिया
नेताओं और अधिकारियों को भी कटघरे में खड़ा कर दिया
उन्‍होंने बाढ़ राहत के नाम पर नेताओं और अधिकारियों को भी कटघरे में खड़ा कर दिया और कहा कि बाढ़ राहत के नाम पर नेता और पदाधिकारी अपना घर भरते हैं। पिकनिक करते हैं। और पार्टी की भी फंडिंग हो जाती है, जिसका इस्‍तेमाल ये लोग चुनाव में करते हैं। इससे प्रदेश की तरक्‍की तो नहीं होती है, लेकिन इनकी संपत्ति में इजाफा हो जाता है। ऐसे में ये लोग कैसे आम लोगों के लिए विकास का कार्य करेंगे। पटना में फिलहाल बारिश थमी हुई है पप्पू लगातार शहर के कई इलाकों में घूम रहे हैं। इससे पहले पप्‍पू यादव देर रात पटना पहुंचने के बाद सीधे राजधानी पटना का सबसे पॉश इलाका मानेजाने वाला बोरिंग रोड गए थे, जहां वे आधी रात को लोगों की समस्‍याओं का समाधान करते नजर आये थे।

गांधी की यादों में सिमटती मिथिला की चरखा और खादी भंडार


मिथिला के घर घर रहने वाला चरखा
मिथिला के घर घर रहने वाला चरखा
कभी देश के झंडे पर रह चुके और मिथिला के घर घर रहने वाला चरखा आज मिज्यूम की बस्तु बनकर मात्र रह गई है । मिथिला के नन्हें बच्चे भी 'च' से चरखा बदले चश्मा और 'स' से सूत के बदले संतरा  को आसानी से समझते हैं। कभी घर घर मौजूद रहने वाला चरखा और मधुबनी जिले में  ग्रामोद्योग के रूप में पहचान दिलाने वाली मधुबनी खादी भंडार आज इस हाइटेक युग में अपना पहचान ढ़ूढ़ने पर मजबूर है। यह खादी ग्रामोद्योग 'मधुबनी 'को राष्ट्रीय ही नहीं वरन विश्व स्तरीय पहचान दिला चुकी है पर अद्योगिकीकरण एवं प्रद्योगिकी के इस होड़ में मधुबनी खादी भंडार का अस्तित्व खत्म हो चुका है । कभी मिथिला के इस क्षेत्र में बेरोजगार, असहाय ,नि:शक्त ,महिला -पुरूष के लिए दैनिक रोजी रोटी का माध्यम था। अपनी समय और आवश्यकता के  अनुसार चरखे से सूत बनाकर पैसा का उपार्जन कर पाती थीं।घर में काम करने वाली गृहिणी इस उद्योग से जुड़कर बचे  दोपहर के समय में खासकर इस कार्य को कर परिवार को सबल करती थीं। महिलाएं आवश्यकता अनुसार खादी भंडार से रूई लेकर सूत बनाकर खादी भंडार को जमा करती थी जहां इस बनाए गए सूत का ग्रेडिंग तय कर इस संस्थान द्वारा  पारिश्रमिक के तौर पर पैसा दिया जाता था ।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
फिर इस सूत से इसी संस्थान के हस्तकर्घा, बुनाई ,धोवाई ,रंगाई ,छपाई , सिलाई विभाग द्वारा धोती, कुर्ता, चादर , बंडी दोपटा, कोट, टोपी , झोला, बोड़ा आदि बनती थी। हर विभाग में औसतन प्रत्यक्ष रूप से 10-12 महिला -पुरूष को रोजगार था तो अप्रत्यक्ष रूप से जिले के  हजारों लोगों के रोजगार का साधन था । गर्म -ठंड दोनों ऋतु में अनुकूल होने के कारण इससे उत्पादित वस्त्र की खपत मिथिला के अलावे देश -विदेश स्तर पर था । गांधी -टोपी ,तिरंगा झंडा ,पैजामा ,कुर्ता की विक्री राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता गणतंत्रता दिवस ऐसे मौके पर काफी था वहीं  उत्पादित जनउ की खपत तो जनउ सहित मिथिला के सांस्कृतिक अवसर पर हो जाती थी ।उस समय के मशीन के द्वारा उत्पादित वस्त्रों पर मधुबनी पेंटिंग सहित अन्य चित्र को छापा जाता था   जो मधुबनी चित्रकला के प्रसार का अनूठा माध्यम था । जानकारी के अनुसार ऐसे मशीन बंद पड़े कई संस्थानों के कमरों में जीर्ण शीर्ण अवस्था में है जो मात्र अब मिज्यूमय के ही काम आ सकती है। रोजगार और महिला स्वालंबन के ख्याल से यह उद्योग काफी महत्त्वपूर्ण था ।समाज के बिधवाओं का एक निश्चित रोजगार था ।
अलावे खादी भंडार ही एक मात्र संस्थान थी
अलावे खादी भंडार ही एक मात्र संस्थान थी
इसके अलावे एक टोला की महिलाएं एक साथ बैठकर रूइ बिनते ,सूत कातते समय , अपना  सुख -दुख साझा के साथ  सामाजिक बातों की चर्चा करती थीं जहां उस समय महिलाएं सिर्फ समाजिक त्योहारों पर ही दूसरे के यहां जाने का मौका मिलता था। तो वहीं घर के अलावे खादी भंडार ही एक मात्र संस्थान थी जहां महिलाएं घुंघट से पूरा सिर नहीं ढ़कती थी इस समय को पर्दा प्रथा से निजात की शुरुआत माना जा सकता है।इसके अलावे जिनके घर शादी ,जनउ  ऐसे आर्थिक दबाब वाला कार्य होने वाला होता था ऐसी परिवार के महिलाओं को लोन  या मदद स्वरूप ज्यादा रूई देती थी ताकि ज्यादा सूत बनाकर आने वाले व्यय के लिए उपार्जन जल्द कर सकें। औसतन 5-7 घंटे चरखे चलाने वाली महिलाएं सत्तर -अस्सी के दशक में 800रू से 1500 रू के बीच आय कर लेती थी । बाद में खादी भंडार को वृहत् किया जाने के क्रम में साबुन उद्योग ,सरसों तेल पेड़ने का मशीन, मधुमक्खी पालन, शुद्ध मधु की खरीद विक्री ऐसे योजना  को जोड़कर बढ़ावा दिया जाने लगा ।स्थानीय स्तर पर बनाए जाने वाला चरखा को खादी भंडार खरीदकर देश विदेश में   विक्री करती थी जो उस समय खादी भंडार का प्रमुख स्र्तोत था । असहाय महिलाएं को लोन के रूप में चरखे दी जाती थी जिसकी कीमत वैसी महिलाएं चरखे की कीमत के बराबर  सूत बनाकर चुकाती थी ।
उन दिनों मधुबनी ,दरभंगा , सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, वैशाली , मधेपुरा  सहित सम्पूर्ण मिथिला में यह एक प्रसिद्ध एवं उपयोगी ग्रामोद्योग के रूप में विकसित था
उन दिनों मधुबनी ,दरभंगा , सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, वैशाली , मधेपुरा  सहित सम्पूर्ण मिथिला में यह एक प्रसिद्ध एवं उपयोगी ग्रामोद्योग के रूप में विकसित था
अस्सी दशक से  पूर्व विद्यालय के विद्यार्थियों को भी विद्यालय या घर (रविवार)सूत काटना अनिवार्य था जिस सूत को बेचकर विद्यालय संचालन की ब्यबस्था की  जाती थी । विद्यालय में होने वाली परीक्षा के एक विषय के रूप में  काटे गए सूत के ग्रेडिंग पर अंक दी जाती थी । उन दिनों मधुबनी ,दरभंगा , सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, वैशाली , मधेपुरा  सहित सम्पूर्ण मिथिला में यह एक प्रसिद्ध एवं उपयोगी ग्रामोद्योग के रूप में विकसित था । मधुबनी के बेनीपट्टी ,खुटौना,मधेपुर,खजौली,सिमरी -विस्फी, मधवापुर, फुलपरास, लोकहा, लौकही, जयनगर, रहिका  प्रखंड के विभिन्न गांव में खादी भंडार का केंद्र था। मधुबनी में मुख्य केंद्र था जिसकी बिल्डिंग जीर्ण शीर्ण त्यक्त अवस्था में आज भी है । सिर्फ बेनीपट्टी प्रखंड के बेनीपट्टी, बसैठ-रानीपुर, धकजरी , चतरा, आदि के ई स्थानों पर खादी भंडार थे। कई  जगह पर आज भी खंडहर भवन हैं तो कई जगहों पर भवन की एक एक ईंट गायब कर भू माफिया द्वारा जमीन बेच दी गई है या बेचने की प्रक्रिया जारी है । समाजिक कार्यकर्ता ई विनोद शंकर झा  इस मुद्दे को जोरदार ढंग से उठाते हुए कहते हैं  कि सरकार खादी भंडार के भूमि सहित संरक्षण कर खादी ग्रामोद्योग को आधुनिक तरीके से विकसित किया जाए , वहीं मिथिला के लोग पुनः खादी वस्त्र को दैनिक जीवन में अपनाकर इसे सशक्त करें ।तभी तो देश के प्रधानमंत्री को मन की बात में देशवासियों से एक दिन खादी वस्त्र उपयोग करने की अपील करनी पड़ी ।

दरौंदा विधानसभा उपचुनाव में राजद प्रत्याशी उमेश सिंह ने किया नामांकन हजारों की तादाद में शामिल हुए समर्थक.

राजद उम्मीदवार उमेश सिंह
राजद उम्मीदवार उमेश सिंह
दरौंदा विधानसभा उपचुनाव में महागठबंधन समर्थित राजद उम्मीदवार उमेश सिंह ने आज सिवान समाहरणालय में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया. उनके साथ हजारों की तादाद में राजद कांग्रेस हम रालोसपा बीआईपी के कार्यकर्ता उपस्थित थे. नामांकन रैली आज समयानुसार सुबह 9:00 बजे दारौंदा बाजार से  प्रारंभ होकर लीलाशाह के पोखरा के रास्ते  बगौरा, कोड़र होते हुए. लौआरी मोड़ के रास्ते मेंहदार पहुंचा जहां उमेश सिंह ने बाबा महेन्द्रनाथ मन्दिर में पूजा अर्चना कर क्षेत्र में अमन-चैन विकास और खुद की जीत की दुआ मांगी.
अवध बिहारी चौधरी, हिना साहब समेत राजद के सभी वरीय नेता उपस्थित थे
अवध बिहारी चौधरी, हिना साहब समेत राजद के सभी वरीय नेता उपस्थित थे
सिसवन चैनपुर होते हुए हसनपुरा बाजार होते हुए, उनका काफिला सिवान बहुत ज्यादा जिला समाहरणालय में उन्होंने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया. इस अवसर पर अवध बिहारी चौधरी, हिना साहब समेत राजद के सभी वरीय नेता उपस्थित थे। 109 दारौंदा विधानसभा के प्रत्याशी के रूप में अपना नामांकन दाखिल करने के बाद आयोजित रैली को संबोधित करते हुए.
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
उमेश सिंह ने कहा कि वे 8 माह बनाम 12 वर्ष की नारी के साथ चित्र में उतरे राजद के सामाजिक न्याय के सपनों के साथ दलित अकल्या पिछड़ा आगरा सबको समान भाव से आगे बढ़ाना उनका संकल्प क्षेत्र का विकास अपराध मुक्त समाज उनकी प्राथमिकता है आयोजित सभा को संबोधित करते हुए सिवान लोकसभा क्षेत्र से राजद प्रत्याशी रही.
हीना साहब ने कहा यहां से उमेश सिंह नहीं वे चुनाव लड़ रहीं हैं
हीना साहब ने कहा यहां से उमेश सिंह नहीं वे चुनाव लड़ रहीं हैं
हीना साहब ने कहा यहां से उमेश सिंह नहीं वे चुनाव लड़ रहीं हैं. उन्होंने लोगों से लालटेन छाप पर बटन दबाकर भारी मतों से विजयी बनाने की अपील की इस अवसर पर अवध बिहारी चौधरी ने कहा कि कुछ लोग इस गलतफहमी में है लोकतंत्र में उनका राजतंत्र चलेगा पर जनता जागरूक है विजय राजद के खाते में जाएगा और यह विधानसभा उपचुनाव बिहार के राजनीति में नया इतिहास रचेगा. इस अवसर पर  राजद नेता परमात्मा राम भी उपस्थित थे.

दक्षिण अफ्रीका में प्रदर्शित होगी अभिनेता अमित कश्यप की मैथिली फ़िल्म "लव यू दुल्हिन"

अमेरिका मूल के दक्षिण अफ्रीका निवासी एरोन स्कोनेकी
अमेरिका मूल के दक्षिण अफ्रीका निवासी एरोन स्कोनेकी
मंसूरचक(बेगूसराय), भोजपुरी फिल्मों के बाद अब एक और प्रमुख बिहारी भाषा "मैथिली" के फिल्मों एवम उससे जुड़े कलाकारों के भी अच्छे दिन आने वाले हैं क्योंकि इस भाषा में बनी फिल्मों की भी माँग अब विदेशों में बढ़ रही है। सोमवार को अमेरिका मूल के दक्षिण अफ्रीका निवासी एरोन स्कोनेकी मंसूरचक के फर्छिवन दूध सेंटर के सभागार में उपस्थित हो वहाँ की सांस्कृतिक व सामाजिक परिवेश की विस्तृत जानकारी उपस्थित लोगों को दी।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
एरोन ने कहा कि भारत के विभिन्न प्रदेशों की संस्कृतियां स्पष्ट रूप से अमेरिका और दक्षिण अफ्रीका में देखी जा सकती है। कहा कि दोनों देशों के विभिन्न क्षेत्रों में कई मैथिलीभाषी हैं जिनके लिए मैथिली फीचर फिल्म "लव यू दुल्हिन" का प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने ये भी कहा की सांस्कृतिक समरसता को बढ़ावा देने के लिए फिल्में एक महत्वपूर्ण माध्यम हो सकता है। उक्त अवसर पर साहित्यकार चाँद मुसाफिर, बॉलीवुड एक्टर अमित कश्यप, गोविंदपुर-2 के मुखिया सुधीर कुमार मुन्ना, ऑसम डेयरी के प्रबंधक अजीत झा आदि ने मिथिलांचल के परंपरागत पाग, चादर, फूलमाला एवम राष्ट्रकवि दिनकर के प्रतीक चिन्ह प्रदान कर एरोन का बेगूसराय की धरती पर स्वागत किया।
http://codelovertechnology.com/
http://codelovertechnology.com/

अभिनेता अमित कश्यप ने कहा कि एक कलाकार के रूप में इससे बड़ी उपलब्धि क्या हो सकती है कि उसकी फिल्मों की माँग देश के साथ विदेशों में भी हो। उन्होंने कहा कि बिहार में सिनेमा उद्योग का विकास ही हमारे जीवन का एकमात्र संकल्प है जिस ओर लगातार प्रयास जारी रहेगा।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
मौके पर ऑसम के पदाधिकारी कनवल कपूर, पैक्स अध्यक्ष कृष्ण कुमार चौधरी,दिनकर फिल्मसिटी के राकेश महंथ, रंजीत गुप्त, अरूण शांडिल्य,दीपक कुमार, रामनाथ कुमार,राजकुमार, सरोज कुमार चौधरी,उज्ज्वल राय आदि थे।
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
बताते चलें कि एरोन भारत के सामाजिक व सांस्कृतिक विकास पर अनुसंधान एवम अध्ययन करने हेतु साप्ताहिक दौरे पर हैं।

वरिष्ठ पत्रकार राजीव मिश्र वीआईपी पार्टी में जल्‍द होंगे शामिल

ख्यात पत्रकार श्री राजीव मिश्र ने जल्‍द ही विकासशील इंसान पार्टी में शामिल होने वाले हैं
ख्यात पत्रकार श्री राजीव मिश्र ने जल्‍द ही विकासशील इंसान पार्टी में शामिल होने वाले हैं
पटना।  देश के प्रख्यात पत्रकार श्री राजीव मिश्र ने जल्‍द ही विकासशील इंसान पार्टी में शामिल होने वाले हैं। राजीव मिश्र, पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय ललित नारायण मिश्र और पूर्व मुख्‍यमंत्री स्वर्गीय डाक्टर जगन्नाथ मिश्र के परिवार से आते हैं, जो अब राजनीति में सन ऑफ मल्‍लाह विकासशील इंसान पार्टी में शामिल होकर राजनीति में अपना कदम रख रहे हैं। उनके पिता स्वर्गीय मृत्युंजय नारायण मिश्र भी सीधे तौर पर राजनीति से जुड़े हुए थे। अब वे भी बिहार, खासकर मिथिला की सक्रिय राजनीति में उतरने को तैयार हैं।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
राजीव मिश्र, एक प्रखर पत्रकार हैं, जो अब राजनीति में अपने जीवन की एक नई पारी की शुरुआत कर रहे हैं। फिलहाल वे देश के नामी शिक्षण संस्थान एमिटी परिवार द्वारा संचालित एमिटी टीवी के सर्वेसर्वा हैं। उनका जन्म बिहार की एक प्रतिष्ठित राजनीतिक मिश्र परिवार में हुआ है। बलुआ बाजार, सुपौल के वे मूल निवासी हैं। इनका बचपन एक राजनीतिक और सामाजिक सरोकार रखने वाले परिवार में बीता। प्रारम्भिक शिक्षा इनकी सहरसा और पटना में हुई जबकि पत्रकारिता और व्यवसायिक शिक्षा छात्रवृति हासिल कर विदेश में पूरी की। आपने पत्रकारिता की शुरुआत हिन्दुस्तान से की और आगे चलकर देश के नामचीन मीडिया हाउस, स्टार, जी, इन्डिया न्यूज, न्यूज 24 और न्यूज 18 के लिए काम किया।
http://codelovertechnology.com/
http://codelovertechnology.com/
राजीव मिश्र करीब 3 वर्षों तक लोकसभा टीवी के लिए बतौर सीइओ और सीएसआर प्रमुख के तौर पर बहुराष्ट्रीय कम्पनी सैमसंग के लिए भी सेवा दी है। इसके अतिरिक्त पिछले कई वर्षों से आप भारत सरकार द्वारा गठित कई मंत्रालयों की कमेटियों के मेम्बर हैं। व्यक्तित्व में इतनी विविधता और पेशागत व्यस्तता के बावजूद राजीव ने अपने आप को अपनी मिट्टी से जोड़े रखा। गांव और प्रदेश के लोगों और इनके नेतृत्व से आपका लगाव जगजाहिर है। सामाजिक सरोकार को जीने की कला आपको अपने परिवार से मिला है। शायद यही कारण है कि आज की तारीख में आपने सक्रिय राजनीति में शामिल होने का निर्णय लिया है।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
राजनीति की इस नई पारी के लिए उन्‍होंने माननीय मुकेश सहनी द्वारा संरक्षित VIP (विकासशील इंसाफ पार्टी) में शामिल होने का निर्णय लिया है। मालूम हो कि मुकेश सहनी ने अपनी पार्टी VIP का गठन एक साल पहले किया था, जो एक महज संयोग नहीं है बल्कि सूबे के लिए एक सबल, सुयोग्य औऱ समर्पित विकल्प है। युवा और प्रगतिशील सोच पर आधारित यह पार्टी सामाजिक समरसता में विश्वास रखती है और यही कारण है कि राज्य की अन्य पार्टियों से इतर विकासशील इंसान पार्टी अपनी अलहदा पहचान रखती है।
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
शुरुआती दिनों में मुकेश सहनी के पास कई राजनीतिक विकल्प आए, मगर सबको नकारते हुए खुद शिल्पकार की भूमिका में रहकर विकासशील इंसान पार्टी को गढ़ने में लग गए। आज नतीजा सामने है। राज्य के हर तबके, हर जाति और हर वर्ग का समर्थन VIP  को मिल रहा है। राज्य की जनता सूबे की वर्तमान सरकार से आजिज आ चुकी है। जाहिर है, एक संवेदनशील, सजग और सरोकारी बिहारी पुत्र होने के नाते राजीव मिश्र ने इसे अपना फर्ज मानते हुए आज विकासशील इंसान पार्टी में शामिल होने का निर्णय लिया। राजीव मिश्र के VIP में शामिल होने के बाद पार्टी को राष्ट्रीय स्तर पर एक नई पहचान मिलेगी तो दूसरी तरफ बिहार और खासकर मिथिलांचल में राजनीति के जातीय समीकरण बदल जाएंगे। बिहार की राजनीति के लिए यह एक शुभ संकेत है

शहर के प्लान पर ध्यान देकर ऐसी स्थिति का परमानेंट सॉल्यूशन निकाले सरकार- मुकेश सहनी

राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी के नेतृत्व में विकासशील इंसान पार्टी द्वारा पटना में चलाया गया राहत अभियान

शहर के प्लान पर ध्यान देकर ऐसी स्थिति का परमानेंट सॉल्यूशन निकाले सरकार- मुकेश सहनी
शहर के प्लान पर ध्यान देकर ऐसी स्थिति का परमानेंट सॉल्यूशन निकाले सरकार- मुकेश सहनी

पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा बांटी गई राहत सामग्री
भारी बारिश से आई बाढ़ के बीच विकासशील इंसान पार्टी
भारी बारिश से आई बाढ़ के बीच विकासशील इंसान पार्टी 
पटना, 30 सितंबर 2019: पटना में भारी बारिश से आई बाढ़ के बीच विकासशील इंसान पार्टी द्वारा शहर में राहत अभियान चलाया गया. पार्टी अध्यक्ष मुकेश सहनी के नेतृत्व में पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा राहत सामग्री का वितरण किया गया. पार्टी द्वारा राजेन्द्र नगर तथा मलाई पकड़ी सहित शहर के कई हिस्सों में प्रभावित लोगों को सहायता पहुंचाई गई. 

बाढ़ से प्रभावित लोगों के बीच खाने के पैकेट का वितरण
बाढ़ से प्रभावित लोगों के बीच खाने के पैकेट का वितरण 
पार्टी द्वारा पटना शहर में बाढ़ से प्रभावित लोगों के बीच खाने के पैकेट का वितरण किया गया. साथ ही पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा प्रशासन की रेस्क्यू टीम के साथ मिलकर लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा रहा है. वीआईपी के नेता तथा कार्यकर्ता शहर के विभिन्न हिस्सों में राहत अभियान में सक्रिय हैं. साथ ही बिहार के अन्य जिलों में भी पार्टी द्वारा राहत मुहैया करवाई जा रही है.

वीआईपी के नेता तथा कार्यकर्ता शहर के विभिन्न हिस्सों में राहत अभियान में सक्रिय हैं
वीआईपी के नेता तथा कार्यकर्ता शहर के विभिन्न हिस्सों में राहत अभियान में सक्रिय हैं
इस दौरान आनंद मधुकर पार्टी के पटना जिलाध्यक्ष अर्जुन सहनी, छात्र प्रकोष्ठ के राज्य अध्यक्ष विकास बॉक्सर सहित पार्टी के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने राहत अभियान चलाया.

हम बात कर रहे हैं विवेक विश्वास की

विगत चार दिनों से लोग पानी से त्राहिमाम कर रहे हैं
विगत चार दिनों से लोग पानी से त्राहिमाम कर रहे हैं
एक तरफ राजधानी पटना में विगत चार दिनों से लोग पानी से त्राहिमाम कर रहे हैं और अपनी जान बचाने के लिए इधर उधर भाग रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ एक ऐसा गुमनाम मसीहा भी है। जो सड़क के किनारे 4 दिन से सड़क के किनारे पर एक लावारिस व्यक्ति को न सिर्फ खाना खिलाता है बल्कि उसे पीएमसीएच हॉस्पिटल इलाज के लिए पहुंचाता है
भीषण बारिश से सड़क पर दिन गुजार रहे
भीषण बारिश से सड़क पर दिन गुजार रहे
हम बात कर रहे हैं  विवेक विश्वास की. भीषण बारिश से सड़क पर दिन गुजार रहे गरीब असहाय चार दिन से बोरिंग रोड पर तडप रहा था। मानवता को मिशाल पेश करते विवेक विश्वास पटना की सड़कों पर कभी भी कोई बीमार दिख जाता है तो उसे अस्पताल पहुचा कर उसकी सेवा करते है
क लावारिश सुलभ शौचालय के पास तपड रहा है ,तो जहाँ लोग घर से नही निकल रहे
लावारिश सुलभ शौचालय के पास तपड रहा है ,तो जहाँ लोग घर से नही निकल रहे 
ऐसे ही लोगो से इंसानियत जिंदा है, आज बोरिग रोड में जैसे ही सूचना मिला एक लावारिश सुलभ शौचालय के पास तपड रहा है ,तो जहाँ लोग घर से नही निकल रहे।  वहां विवेक कुमार उसकी स्थिति देखते हुए तुरंत अपने साथी विकाश कुमार के साथ पहुँच कर। 102 एम्बुलेंस जो लवारिशो के लिए बिल्कुल फ्री है उससे pmch पहुचाया जहाँ चिकित्सको ने उसे देख कर दवा दिया ।
अस्पताल प्रशासन की ओर से मुफ्त में दिया गया
अस्पताल प्रशासन की ओर से मुफ्त में दिया गया
दवा भी अस्पताल प्रशासन की ओर से मुफ्त में दिया गया। विवेक बताते है कि ऐसे लावारिश असहाय मरीजो के लिए pmch मंदिर है जहाँ इनका इलाज होता है।इससे पहले भी विवेक कितनो को सड़क से उठा कर अस्पताल पहुचाए है।

सुपरस्टार अरविंद अकेला कल्लू की फिल्म 'छलिया' का रिलीज से पहले होगा मुंबई में प्रीमियर

अरविंद अकेला कल्लू और यामिनी सिंह
अरविंद अकेला कल्लू और यामिनी सिंह 
भोजपुरी बॉक्स ऑफिस पर 18 अक्टूबर को अरविंद अकेला कल्लू और यामिनी सिंह की मोस्ट अवेटेड फ़िल्म 'छलिया' रिलीज हो रही है। लेकिन उससे पहले फ़िल्म के निर्माता गौतम सिंह ने प्रीमियर की इच्छा जाहिर की है और कहा है कि वे फ़िल्म को सिनेमाघरों में रिलीज होने से पहले कुछ प्रतिष्ठित लोगों, फिल्मकारों और पत्रकारों को दिखाना चाहते हैं और उनसे फ़िल्म के बारे में उनकी राय लेना चाहते हैं। फ़िल्म का प्रीमियर वे मुंबई में ही करना चाहते हैं।
http://codelovertechnology.com/
http://codelovertechnology.com/
आपको बता दें कि भोजपुरी सिनेमा में ऐसे कम ही मौके आते हैं, जब किसी फिल्म का व्यापाक तौर पर प्रीमियर होता है। लेकिन सिनेमा में सार्थक बदलाव के साथ अब भोजपुरी इंडस्ट्री का कल्चर भी ग्रो कर रहा है। तभी तो फिल्मकार अब अपनी फिल्मों का प्रीमियर भी रखने की सोच रहे हैं। बहरहाल, इसको लेकर गौतम सिंह ने कहा कि हमने बेहतरीन सिनेमा बनाई है। इसलिए हम इसका प्रीमियर चाहते हैं। हम इसकी तैयारी में भी जुट गए हैं।।यकीनन हमारा यह प्रयोग भोजपुरी सिनेमा इंडस्ट्री को और आगे बढ़ाएगी। हम 'छलिया' को दिवाली से पहले 18 अक्टूबर को रिलीज कर रहे हैं। उसी के हिसाब से हम प्रीमियर भी करेंगे।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
उन्होंने कहा कि प्रमोद शास्त्री के निर्देशन में स्‍टार वर्ल्‍ड बैनर तले बनी इस फ़िल्म का ट्रेलर पहले ही आउट हो चुका है, जिसे दर्शकों ने खूब सराहा है। साथ ही दर्शक इस फिल्‍म के रिलीज का इंतजार बेसब्री से कर रहे हैं। मालूम हो कि फिल्‍म 'छलिया' में सुपर स्‍टार अरविंद अकेला कल्‍लू, यामिनी सिंह, ऋतु सिंह, कनक यादव, निशा झा, हर्ष ठाकुर, मनोज टाइगर,अनिल यादव, देव सिंह, बालेश्‍वर सिंह, समर्थ चतुर्वेदी, माया यादव, गौरी शंकर,कमलकांत मिश्रा, निरंजन चौबे, मुन्ना सिंह, सीमा यादव,अर्जुन यादव,राजकुमार सिंह, आर के गोस्वामी, बिट्टू बरनवाल जैसे कलाकार लीड रोल में हैं।

http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
 फिल्‍म के सह निर्माता आनंद श्रीवास्तव, लेखक एस के चौहान,म्‍यूजिक डायरेक्‍टर अविनाश झा घुंघरू और प्रचारक संजय भूषण पटियाला हैं। डीओपी नीतू इकबाल सिंह का है। फिल्‍म के लिरिक्‍स मनोज मतलबी और सुमित सिंह चंद्रवंशी ने लिखे हैं। कोरियोग्राफर रिकी गुप्‍ता और दिलीप मिस्‍त्री हैं।

Sunday, September 29, 2019

युवा दस्ता ने पॉलीथिन मुक्त राँची बनाने की ली शपथ

युवा दस्ता का राँची
युवा दस्ता का राँची
आज दिनाँक 29-09-2019 दिन रविवार को युवा दस्ता का राँची पहाड़ी मंदिर प्रांगण में युवा दस्ता के कार्यकारनी की बैठक का आयोजन किया गया। इस अवसर पर आगामी दुर्गा पूजा में भक्तों की सेवा के लिए युवा दस्ता पूरी तरह से तत्पर रहेगा। साथ ही साथ भक्तों की परेशानियों का निबटारा करेगा ।

http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
इस अवसर पर बैठक की अध्य्क्षता आशुतोष द्विवेदी एवं बादल सिंह ने संयुक्त रूप से की। इस अवसर पर आगामी दुर्गा पूजा में महिलाओं की सुरक्षा, पंडालो की साफ सफाई,बिजली पानी, टॉयलेट, फायर ब्रिगेड, मेडिकल की टीम, पुलिस सुरक्षा, cctv एवं ड्रोन से निगरानी, पॉकेट मारो एवं असामाजिक तत्वों से निबटारा आदि मुद्दे को पुलिस प्रशाशन एवं दुर्गा पूजा समितियों के साथ मिलकर निबटारा करने का संकल्प लिया।
150 जयंती पर राजधानी राँची को पॉलीथिन मुक्त बनाने की युवाओं को शपथ
150 जयंती पर राजधानी राँची को पॉलीथिन मुक्त बनाने की युवाओं को शपथ
साथ ही साथ महात्मा गांधी की 150 जयंती पर राजधानी राँची को पॉलीथिन मुक्त बनाने की युवाओं को शपथ दिलाई गई। साथ ही साथ पर्यावरण सुरक्षा के लिए अपने घरों एवं आस-पास के वातावरण को सुद्ध करने का संकल्प लिया।इस अवसर पर बादल सिंह, सुभम सिन्हा, सुभम ठाकुर, गौरव अग्रवाल, रंजन, अंशुल सिंह, कुणाल सौरभ, अवदेश सिंह, अनुराग शर्मा, मीडिया प्रभारी राहुल सोनी, मयंक सोनी , प्रांजल सिंह, अभिनाश मिश्रा, स्वयं  सहाय,राहुल, अवदेश, रंजीत, चंद प्रकाश, प्रतियुष प्रिय ,आदि उपस्थित थे।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/

सुपरस्टार अरविंद अकेला कल्लू की फिल्म 'छलिया' का रिलीज से पहले होगा मुंबई में प्रीमियर

कल्लू और यामिनी सिंह की मोस्ट अवेटेड फ़िल्म 'छलिया' रिलीज हो रही है
कल्लू और यामिनी सिंह की मोस्ट अवेटेड फ़िल्म 'छलिया' रिलीज हो रही है
भोजपुरी बॉक्स ऑफिस पर 18 अक्टूबर को अरविंद अकेला कल्लू और यामिनी सिंह की मोस्ट अवेटेड फ़िल्म 'छलिया' रिलीज हो रही है। लेकिन उससे पहले फ़िल्म के निर्माता गौतम सिंह ने प्रीमियर की इच्छा जाहिर की है और कहा है कि वे फ़िल्म को सिनेमाघरों में रिलीज होने से पहले कुछ प्रतिष्ठित लोगों, फिल्मकारों और पत्रकारों को दिखाना चाहते हैं और उनसे फ़िल्म के बारे में उनकी राय लेना चाहते हैं। फ़िल्म का प्रीमियर वे मुंबई में ही करना चाहते हैं।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
आपको बता दें कि भोजपुरी सिनेमा में ऐसे कम ही मौके आते हैं, जब किसी फिल्म का व्यापाक तौर पर प्रीमियर होता है। लेकिन सिनेमा में सार्थक बदलाव के साथ अब भोजपुरी इंडस्ट्री का कल्चर भी ग्रो कर रहा है। तभी तो फिल्मकार अब अपनी फिल्मों का प्रीमियर भी रखने की सोच रहे हैं। बहरहाल, इसको लेकर गौतम सिंह ने कहा कि हमने बेहतरीन सिनेमा बनाई है। इसलिए हम इसका प्रीमियर चाहते हैं। हम इसकी तैयारी में भी जुट गए हैं।। यकीनन हमारा यह प्रयोग भोजपुरी सिनेमा इंडस्ट्री को और आगे बढ़ाएगी। हम 'छलिया' को दिवाली से पहले 18 अक्टूबर को रिलीज कर रहे हैं। उसी के हिसाब से हम प्रीमियर भी करेंगे।
http://codelovertechnology.com/
http://codelovertechnology.com/
उन्होंने कहा कि प्रमोद शास्त्री के निर्देशन में स्‍टार वर्ल्‍ड बैनर तले बनी इस फ़िल्म का ट्रेलर पहले ही आउट हो चुका है, जिसे दर्शकों ने खूब सराहा है। साथ ही दर्शक इस फिल्‍म के रिलीज का इंतजार बेसब्री से कर रहे हैं। मालूम हो कि फिल्‍म 'छलिया' में सुपर स्‍टार अरविंद अकेला कल्‍लू, यामिनी सिंह, ऋतु सिंह, कनक यादव, निशा झा, हर्ष ठाकुर, मनोज टाइगर,अनिल यादव, देव सिंह, बालेश्‍वर सिंह, समर्थ चतुर्वेदी, माया यादव, गौरी शंकर,कमलकांत मिश्रा, निरंजन चौबे, मुन्ना सिंह, सीमा यादव,अर्जुन यादव,राजकुमार सिंह, आर के गोस्वामी, बिट्टू बरनवाल जैसे कलाकार लीड रोल में हैं।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
फिल्‍म के सह निर्माता आनंद श्रीवास्तव, लेखक एस के चौहान,म्‍यूजिक डायरेक्‍टर अविनाश झा घुंघरू और प्रचारक संजय भूषण पटियाला हैं। डीओपी नीतू इकबाल सिंह का है। फिल्‍म के लिरिक्‍स मनोज मतलबी और सुमित सिंह चंद्रवंशी ने लिखे हैं। कोरियोग्राफर रिकी गुप्‍ता और दिलीप मिस्‍त्री हैं।

हम आपके साथ हैं

संयुक्त रूप से बाढ़ की विभीषिका के सामना कर रहे
संयुक्त रूप से बाढ़ की विभीषिका के सामना कर रहे
ग्लोबल राज प्रोडक्शन हाउस, अरनव मिडिया एंड इंटरटेनमेंट, पटना ग्रीन हाउसिंग प्राइवेट लिमिटेड, बिहार यूथ बिल्डर एसोसिएशन, टैगोर एडुकॉन, एम सिविल सर्विसेज शुक्रिया वशिष्ठ संयुक्त रूप से बाढ़ की विभीषिका के सामना कर रहे। राजधानी पटना के निवासियों के मदद के लिए आगे आया है।
बैंक कॉलोनी रोड नंबर वन अवस्थित
बैंक कॉलोनी रोड नंबर वन अवस्थित
पटना के गोला रोड बैंक कॉलोनी रोड नंबर वन अवस्थित  राज ट्रामा हॉस्पिटल में निशुल्क चिकित्सा की व्यवस्था की गई है।  साथ ही साथ पचास व्यक्तियों के रहने खाने की व्यवस्था की गई है। पटना के बोरिंग रोड स्थित टैगोर एडुकान रोटी रेस्टूरेंट के बगल में जो मित्र जलजमाव के कारण रहना चाहते हैं।
अदम्या आदिति गुरुकुल के संस्थापक डॉ एम रहमान
अदम्या आदिति गुरुकुल के संस्थापक डॉ एम रहमान
उनकी रहने की व्यवस्था की जा रही है. अदम्या आदिति गुरुकुल के संस्थापक डॉ एम रहमान और मुन्ना जी ने पीएमसीएच में प्रबंधन द्वारा जमा ढाई सौ यूनिट रक्त जरूरतमंदों को देने का फैसला लिया है। संकट की इस घड़ी में बड़े भाई डॉक्टर विजय राज सिंह, भूषण कुमार सिंह, बबलू शैलेश कुमार सिंह, गुरु डा एम रहमान, मुन्ना जी, अनिल पाल, राकेश तिवारी समेत अपनी टीम के सभी सदस्यों का आभार व्यक्त करता हूं।
अभियंता कॉलोनी में शुक्रिया वशिष्ठ परिसर
अभियंता कॉलोनी में शुक्रिया वशिष्ठ परिसर 
जिन्होंने आगे बढ़ कर मदद की पहल की है. हमारी टीम के पास 50 लोगों के रहने की व्यवस्था पटना के आशियाना नगर अभियंता कॉलोनी में शुक्रिया वशिष्ठ परिसर में भी है। 

Whatsapp 9546224277

Help line no 94734 21821

डूबते शहर में टूटते रिश्ते की दर्दनाक दास्तां

तेज प्रताप यादव की पत्नी ऐश्वर्या राय
तेज प्रताप यादव की पत्नी ऐश्वर्या राय
मौसम के बदले मिजाज से राजधानी पटना बाढ़ का सामना कर रहा है वहीं दूसरी तरफ आज नवरात्रि भी प्रारंभ है। तबाही और भक्ति खबरों के बीच एक बड़ी खबर आ रही है बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास से जहां तेज प्रताप यादव की पत्नी ऐश्वर्या राय ने फिर एक बड़ा आरोप अपनी ननद मीसा भारती पर  लगाया है। लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की पत्नी  ऐश्वर्या राय ने अपनी ननद मीसा भारती पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है की उन्हें खाना नहीं दिया जाता है घर में बंद रखा जाता है मामले में अपडेट का इंतजार आपकों बता दें कि तेजप्रताप और एेश्वर्या के बीच शादी के कुछ ही दिनों बाद रिश्तों में अनबन खटास आ गई थी और तेजप्रताप ने एेश्वर्या राय को तलाक देने का फैसला लिया था और वहीं तेजप्रताप यादव ने हिन्दू मैरेज एक्ट 13 (1A) के तहत प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय पटना की अदालत में पत्नी ऐश्वर्या राय से तलाक़ की अर्ज़ी 1208/18 दी जिसपर सुनवाई अभी भी जारी है।
http://bharatnavnirman.co.in/
http://bharatnavnirman.co.in/
आपकों बता दें कि तेजप्रताप यादव को अपनी पत्नी से तलाक वापस लेने के लिए लालू परिवार की तरफ से काफी दबाव भी डाला गया। लेकिन वो किसी भी हाल में अपना फैसला बदलने के लिए तैयार तक नहीं हुए।
आपकों बता दें कि तेज प्रताप यादव ने परिवार न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश की अदालत में तलाक की जो अर्जी दायर की है। उसमें उन्होंने तलाक़ का आधार पत्नी ऐश्वर्या राय का क्रूर व्यवहार बताया है और उसमें लिखा गया है, कि दांपत्य जीवन में उन्हें पत्नी के व्यवहार से काफ़ी दुख पहुंचा है। इसलिए वे तलाक़ लेने का फ़ैसला किए हैं।
http://codelovertechnology.com/
http://codelovertechnology.com/
वहीं इस बारे में तेज प्रताप यादव ने कहा था की जो आवेदन कोर्ट में दिया है वो एक सच्चाई है घुट-घुटकर जीने से कोई फ़ायदा है नहीं है। और उसके बाद कोर्ट में तलाक़ की अर्ज़ी दायर करने की खबर मिलते ही ऐश्वर्या राय अपने परिवार समेत राबड़ी देवी से मिलने पहुंचीं थीं और वहीं रह रही थीं। तलाक की अर्ज़ी देने के बाद तेज प्रताप पिता लालू प्रसाद यादव से मिलने के लिए रांची भी चले गए थे जिसके बाद दोनों परिवारों की ओर से सुलह की कोशिशें भी तेज की गई वहीं राबड़ी देवी ने ऐश्वर्या और उनके घरवालों से बात की और आश्वासन भी दिया कि तेजप्रताप मान जाएंगे और तलाक की अर्जी वो अपना वापस ले लेंगे।
http://www.ahaannews.com/
http://www.ahaannews.com/
आपकों बता दें कि पिछले साल 12 मई को तेज प्रताप यादव की शादी ऐश्वर्या राय से हुई थी और दो पूर्व मुख्यमंत्रियों के परिवार में बहुत धूमधाम से हुई। इस हाई प्रोफ़ाइल शादी में न केवल बिहार बल्कि देश की कई नामी-गिरामी हस्तियों ने भी शिरक़त की थी। अपनी उपस्थिति दर्ज कराई थी। वहीं शादी के बाद तुरंत ही लालू के घर में कुछ अच्छी बातें हुईं जिसके बाद राबड़ी देवी ने कहा था। हमारी बहू लछमिनिया अच्छे लक्षण वाली है और उसके आने से घर में बहुत सारी खुशियां भी आई हैं।
http://vaishalidairy.co.in/
http://vaishalidairy.co.in/
उन्हीं दिनों तेज प्रताप यादव ने सोशल मीडिया नेटवर्क पर पत्नी ऐश्वर्या राय के साथ एक तस्वीर डाली थी जो काफ़ी वायरल भी हुई और तस्वीर में साइकिल पर ऐश्वर्या को आगे बिठाए दिख रहे। तेज प्रताप यादव ने तस्वीर के कैप्शन में पत्नी के लिए प्रेम का इज़हार भी किया था। वहीं वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव के हलफ़नामे के मुताबिक तेज प्रताप ने बारहवीं तक की पढ़ाई की है जबकि ऐश्वर्या राय ने पटना के नॉट्रेडैम एकेडमी से बारहवीं तक की पढ़ाई करने के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक किया है और उन्होंने एमिटी यूनिवर्सिटी से मास्टर्स की डिग्री भी हासिल की है।

वैशाली जिलाधिकारी से नहीं चल रही जिले की व्यवस्था, विभिन्न स्तरों पर युवाओं ने संभाला बागडोर

हो सकता हैं बड़ी दुर्घटना, वैशाली को झेलना पड़ सकता हैं महामारी, संकट रोकने में विफल जिला प्रशासन एक सप्ताह में लाखों लोगों क...