Wednesday, August 21, 2019

हमसे ना हो पाऐंगा वैशाली की रक्षा, हमें विदाई दे दो महोदय

आजकल लगातार हो रही हत्याओं को लेकर वैशाली पुलिस अधीक्षक अपने आप में असहज महसूस करते हुए
 पुलिस अधीक्षक मनजीत सिंह ढिल्लों अपराध मुक्त वैशाली करने में नाकामयाब
वैशाली पुलिस अधीक्षक मानवजीत सिंह ढिल्लो


पिछले 60 दिनों में दर्जनों हत्या हो चुकी है, लेकिन पुलिस की नाकामयाबी और नेतृत्व दोनों पर सवाल, ना तो जिला प्रशासन उठा रही है, ना तो बिहार सरकार। आम जनता तो मूकदर्शक बनकर अपनी अपनी हत्या के इंतजार में निरंतर आगे बढ़ रही है। अब ना कोई आंदोलन होता है, ना ही कोई विरोध। कैसे हो सकता है विरोध, इसकी सोच ही विकसित नहीं हो पा रही। आंदोलन दबाई जाती हैं, दफनाएं जाते हैं और ना जाने कितने तरीकों से दबाई जा सकती हैं। यह कभी नहीं भूलना चाहिए कि आने वाली पीढ़ी सवाल नहीं करेगी, क्योंकि आप उस लायक समाज को छोड़ने के तरफ कदम ही नहीं बना रहे हैं।

सुरक्षित नहीं रख पा रहा वैशाली कौन है जिम्मेदार
हत्या हत्या की गई गाड़ियों में लोगों की मौजूदगी

लगातार हो रही हत्याओं को लेकर कई बार सवाल कुछ लोगों ने उठाएं। जिलाधिकारी को पत्र भी दिया गया, लेकिन दुर्भाग्य है कि अभी तक वैशाली पुलिस अधीक्षक के खिलाफ किसी प्रकार की कोई कानूनी कार्रवाई नहीं शुरू हुई। वैशाली पुलिस अधीक्षक किस घनी निद्रा में है, यह किसी को नहीं पता। कौन सी जिम्मेदारियों के तहत वैशाली पुलिस पर आम आदमी भरोसा करें। यह भी स्पष्ट नहीं हो रहा है। कोई ऐसा जिला में अधिकारी नहीं है, जिससे दर्द के बारे में कोई बात कर पाए। ना ही कोई मंत्री, ना तो कोई विधायक, व सांसद है। जिसे यह कहा जाए, कि साहब अब तो खून खराबा बंद कर दो। अगर आप से नहीं होता है तो कम से कम अपने पदों से मुक्ति ही दे दो। हम मान ले कि हमारे यहां विधायक और सांसद मरे हुए हैं। जीवित रहकर भी आप से जब कुछ नहीं हो रहा है, तो आप मृत प्राणी बन जाए, तो बेहतर होगा।

वैशाली अपराध का केंद्र पुलिस अधीक्षक नाकामयाब
हत्यारों के खिलाफ होगी कार्रवाई
जिस उम्मीद से वैशाली के लोगों ने एनडीए के गठबंधन को वोट किया, वह दुर्भाग्यपूर्ण है। सर्व विदित है यहां के पूर्व विधायक और वर्तमान में केंद्रीय मंत्री केंद्रीय राज्य मंत्री के रूप में एक व्यक्ति अपने प्रभावशाली व्यक्तित्व से लोगों को प्रभावित करते रहे हैं। दुर्भाग्य इस बात की है कि केंद्रीय राज्य मंत्री को अपने जिला में हो रहे लगातार हत्या पर कोई चिंता नहीं। केंद्रीय राज्य मंत्री जो कि गृह मंत्रालय के अधीन उन्हें राज्य मंत्री बनाया गया है। अपने ही घर के बारे में जब जानकारी ना हो या आंख बंद कर कुछ कर रहे हो तो क्या ? आप कहेंगे क्या ? भारत सरकार में गृह राज्य मंत्री के रूप में कार्यरत हाजीपुर के पूर्व विधायक वर्तमान उजियारपुर के सांसद को कहीं से भी इस बात की चिंता नजर नहीं आ रही हमारा जिला संकट में है। बहुत बड़ा सत्य यह रहा है कि खुद हाजीपुर में कई हत्या कांडों में सीधे आरोपी बनाते गए थे, तो अपराध पर अंकुश बेईमानी ही हैं।
वैशाली में हत्या का प्रमुख कारण पुलिस की लापरवाही
लगातार में वैशाली हत्या काण्ड में आखिर पुलिस अधीक्षक कहां


अब आम जनता को यह खुद में विचार करना होगा, कि अगली बार कोई मोदी सरकार ना। क्योंकि मोदी के नाम पर जो वोट आप दे रहे हैं, उसका सिर्फ दुरुपयोग हो रहा है। हाजीपुर का विधायक जाकर उजियारपुर में काम देख रहा है। हाजीपुर की जनता मर रही है, हाजीपुर के विधायक को किसी भी प्रकार की तकलीफ नहीं है। रोज हत्या हो रही है और विधायक पार्टी मनाते हुए फेसबुक पर पोस्ट करेंगे। विधायक जी उजियारपुर में अपनी गैर जिम्मेदाराना हरकतें करते हुए फेसबुक पर नजर आते हैं। सांसद जो पूर्व सांसद के छोटे भाई हैं पता नहीं कहां गायब है ? पूर्व सांसद का संस्कार है यहां 43 वर्ष राज्य करने के बावजूद हाजीपुर के प्रति कोई जिम्मेवारी नजर नहीं आती। हाजीपुर को पूर्णरूपेण अपराध युक्त बनाने में पूर्व सांसद वर्तमान केंद्रीय मंत्री की बड़ी भूमिका भी है। हाजीपुर के प्रति किसी भी विधायक सांसद की जिम्मेवारी कहीं नजर नहीं आती। इसलिए हर आदमी आज अपने-अपने मौत के इंतजार में है। क्योंकि मौत तो 1 दिन आनी है, बस इंतजार करिए। अपने-अपने हत्या का ताकि आप आराम से बिना बोले ईश्वर की शरण में चलेगा जाएं।

वैशाली जिले में हो रही हत्या और हाजीपुर विधायक उजियारपुर में दे रहे सेवा जिलाधिकारी समस्तीपुर के साथ बैठे हुए


वही वैशाली पुलिस अधीक्षक अब ऐसा लगता है, जिसने किसी राजनेता के शरण में बैठे हुए हैं। और यही कहते होंगे, अब तो माफी दे दो सरकार। मुक्त कर दो वैशाली से, मुझे मत देना जिला, लेकिन वैशाली से मुझे मत करो।

No comments:

पंच, सरपंच, उपसरपंच एवं न्याय मित्र, न्याय सचिव द्वारा जनहित राज्य व राष्ट्रहित में : अमोद कुमार निराला

http://www.ahaannews.com/ स्वच्छ भारत निर्माण परिषद एवं टीम जयपुर राजस्थान द्वारा राजापाकर प्रखंड क्षेत्र के रामपुर रत्नाकर सरसई गढ नि...