Friday, August 23, 2019

आशुतोष कुमार ने कहा छोटे सरकार के सामने बौने पड़ी बिहार पुलिस, लिपी सिंह की इज्जत तार-तार

हिंदी सिनेमा में डाॅन फिल्म की एक कहावत " डॉन का इंतजार तो 11 मुल्कों की पुलिस कर रही है, लेकिन डॉन को पकड़ना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है"
दिल्ली कोर्ट में सरेंडर किया आनंद सिंह ने
बिहार पुलिस लिपी सिंह के नेतृत्व में ध्वस्त, राजनीतिक साज़िश से खुद को बचा निकले अनंत सिंह
माननीय मोकामा विधायक श्री अनंत सिंह ने यह साबित कर दिया की रियल शेर हम ही है : आशुतोष कुमार

दिल्ली : आज दिल्ली से जो खबरें आई वह सुनकर बिहार की राजनीति में भुचाल आ गया। कई राजनीतिक दलों के साथ एक राजनीतिक पुत्री की चमकने वाली खेल का अंत हो गया। आज दिल्ली में अनंत सिंह के सरेंडर के बाद साकेत कोर्ट में हाईवोल्जेट ड्रामा हुआ। जब जज साहब ने कहा-उन्हें अनंत को बिहार भेजने का अधिकार नहीं, दूसरे कोर्ट में होगी सुनवाई। अनंत सिंह के सरेंडर के बाद दिल्ली के साकेत कोर्ट में हाई वोल्टेज ड्रामा जारी रहा। मामले की सुनवाई कर रहे मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट ने कहा दिया है कि उन्हें अनंत सिंह को बिहार भेजने का अधिकार ही नहीं हैं। मामले की सुनवाई अब दूसरे कोर्ट में होगी, जहां उन्हें बिहार भेजने पर फैसला होगा। इस बीच दिल्ली पुलिस अनंत सिंह का मेडिकल टेस्ट कराने में लग गयी है। मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट ने कहा-मुझे सुनवाई का पावर नहीं। अनंत सिंह के सरेंडर के बाद तीसरी दफे मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट हारूण प्रताप के कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई। उससे पहले दिल्ली पुलिस आधे घंटे तक अनंत सिंह से पूछताछ कर चुकी थी, वहीं बिहार पुलिस के वकील भी कोर्ट में पहुंच चुके थे।
राजनीतिक ताकतों से लड़ते रहें मनुष्य
अनंत सिंह ने हमेशा अपने दम पर राजनीति की हैं


 कोर्ट ने सुनवाई के बाद कहा कि उसे अनंत सिंह को बिहार भेजने का अधिकार नहीं है। इसलिए मामले को दूसरे कोर्ट में पेश किया जाये। कोर्ट के निर्देश के बाद अनंत सिंह को दिल्ली पुलिस ने अपनी निगरानी में ले लिया है। साकेत कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से पूछा - क्या अनंत सिंह के रसूखदार होने के कारण नहीं दे रही कोई जानकारी। कोर्ट रूम में हो रही विधायक से पूछताछ में बाहुबली विधायक अनंत सिंह के सरेंडर के बाद दिल्ली के साकेत कोर्ट में होई वोल्टेज ड्रामा जारी रहा। अनंत सिंह के आपराधिक रिकार्ड के बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं मिलने से नाराज कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को जमकर फटकार लगायी है। जज ने दिल्ली पुलिस से पूछा - क्या अनंत सिंह प्रभावशाली व्यक्ति हैं, इसलिए दिल्ली पुलिस कोई जानकारी नहीं दे रही है।


दिल्ली पुलिस ने बिहार पुलिस को भेजी अनंत सिंह की तस्वीर, तब दो बजे हुई पहली सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस ने कुछ समय मांगा था। तीन बजे मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट हारूण प्रताप की कोर्ट में फिर से मामले की सुनवाई शुरू हुई। जज ने पहला सवाल पूछा - क्या अनंत सिंह के खिलाफ जारी गैर जमानतीय वारंट की जानकारी मिली। पुलिस ने कहा-अब तक कोई जानकारी नहीं मिल पायी है। दिल्ली में कोई मामला दर्ज नहीं है, बिहार पुलिस को अनंत सिंह की तस्वीर भेजी गयी है। दिल्ली पुलिस ने कहा कि वो बिहार पुलिस के लगातार संपर्क में है। जैसे ही जानकारी मिलेगी वैसे ही कोर्ट को सूचित किया जायेगा।
आशुतोष कुमार एक ऐसे समय में अनंत सिंह का साथ दिया जब उसकी जवाब
भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशुतोष कुमार अनंत सिंह के साथ


अदालत की सुनवाई में बिफरे जज ने पुलिस को लगायी फटकार लगाई। सुनवाई के दौरान ही दिल्ली पुलिस ने अनंत सिंह को हिरासत में लेने की अर्जी लगायी। जज हारूण प्रताप ने कहा कि पुलिस पहले अनंत के खिलाफ मामले की जानकारी दे। नाराज जज ने दिल्ली पुलिस को जमकर फटकार लगायी। कहा - क्या अनंत सिंह के प्रभावशाली व्यक्ति होने के कारण पुलिस कोई जानकारी नहीं दे रही है। क्या इसलिए ही जानकारी देने में देर की जा रही है।

कोर्ट रूम में पुलिस से अनंत सिंह के बारे में जज ने ठोस जानकारी के बगैर अनंत सिंह को न्यायिक हिरासत या पुलिस कस्टडी में भेजने से इंकार कर दिया। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने कोर्ट रूम में ही अनंत सिंह से पूछताछ करने की इजाजत मांगी। जज ने कोर्ट रूम में ही अनंत सिंह से आधा घंटे तक पूछताछ की इजाजत दी है। दिल्ली पुलिस के अधिकारी वहीं अनंत सिंह से पूछताछ कर उनके खिलाफ लगे आरोपों की जानकारी लेने में लगे हैं।

पुलिस ने पूछताछ के बाद फिर कोर्ट ने सुनवाई शुरू हुआ। अनंत सिंह से पूछताछ के बाद दिल्ली पुलिस कोर्ट को अपडेट देगी। उसके बाद कोर्ट तय करेगी कि अनंत सिंह को दिल्ली पुलिस की हिरासत में भेजा जाए या जेल भेजा जाए। वैसे दिल्ली पुलिस को उम्मीद है कि इस दौरान उसे बिहार पुलिस से भी अनंत सिंह के खिलाफ जारी वारंट की जानकारी मिल जायेगी।
अनंत सिंह अपने दम पर एक बड़ी राजनीतिक कदम से हो
आनंद सिंह को राजनीतिक साजिद के साथ फसाने का बढ़ता कदम आसमा


बाद में अनंत सिंह के सरेंडर के बाद साकेत कोर्ट में हाईवोल्जेट ड्रामा हो जाने के बाद, जज ने कहा-उन्हें अनंत को बिहार भेजने का अधिकार नहीं, दूसरे कोर्ट में होगी सुनवाई। वहीं दिल्ली पुलिस के प्रोटेक्शन में बाढ़ कोर्ट में पेश होंगे अनंत सिंह, ट्रांजिट रिमांड पर ले सकती है बिहार पुलिस। लगातार दबिश के बावजूद अनंत सिंह को पकड़ पाने में पटना पुलिस नाकामयाब रही। इस बीच वे खुलेआम वीडियो बनाते रहे, शेयर करते रहे, लेकिन पुलिस उन तक नहीं पहुंच पाई। 16 अगस्त के बाद से लगातार पुलिस को गच्चा देते रहे। अनंत सिंह कब दिल्ली के साकेत कोर्ट पहुंच गए,  इसकी किसी को भनक तक नहीं लगी। गिरफ्तार नहीं होने देने और कोर्ट में ही सरेंडर के अपने दावे के अनुसार शुक्रवार को उन्होंने दिल्ली के साकेत कोर्ट में सरेंडर कर दिया। अदालत ने उनका सरेंडर मंज़ूर करते हुए दिल्ली पुलिस को आदेश दिया कि उन्हें बाढ़ कोर्ट में पेश किया जाए।

इस दिन भर में हुए अनंत सिंह की राजनीतिक चाल के आगे बिहार पुलिस और ख़ास कर लिपी सिंह की राजनीतिक पैठ की पोल खुल गई। भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशुतोष कुमार ने कहा अनंत सिंह के साथ पुरा भूमिहार ब्राह्मण समाज हैं। वो संघर्ष करें, हम सत्य के साथ हैं और जीत होगी।

No comments:

पंच, सरपंच, उपसरपंच एवं न्याय मित्र, न्याय सचिव द्वारा जनहित राज्य व राष्ट्रहित में : अमोद कुमार निराला

http://www.ahaannews.com/ स्वच्छ भारत निर्माण परिषद एवं टीम जयपुर राजस्थान द्वारा राजापाकर प्रखंड क्षेत्र के रामपुर रत्नाकर सरसई गढ नि...